Mon. Jul 6th, 2020

“ब्लैक लाइव्स मैटर” लोगो के साथ मैदान में उतरेगी वेस्टइंडीज की टीम


नई दिल्ली, 29 जून (हि. स.)। वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम के खिलाड़ी खेल में नस्लवाद का विरोध करने के लिए इंग्लैंड के खिलाफ आगामी तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला में अपने शर्ट के कॉलर पर “ब्लैक लाइव्स मैटर” का लोगो लगाकर मैदान में उतरेंगे।
दरअसल, अमरीका में जॉर्ज फ्लॉयड नामक एक अश्वेत व्यक्ति की पुलिस हिरासत में हत्या कर दी गई थी, जिसके बाद पूरी दुनिया में नस्लवाद के खिलाफ विरोध किया जा रहा है, और अब क्रिकेट जगत भी इसके खिलाफ आवाज उठाने की तैयारी कर रहा है।
वेस्टइंडीज के कप्तान जेसन होल्डर ने कहा कि यह हम सभी का कर्तव्य है कि हम एकजुटता दिखाएं और जागरूकता लाने में मदद करें। होल्डर ने कहा, “यह खेल के इतिहास के लिए, क्रिकेट के लिए और वेस्टइंडीज टीम के लिए एक महत्वपूर्ण क्षण है।”
उन्होंने कहा, “हम इंग्लैंड में विजडन ट्रॉफी को अपने पास बरकार रखने के लिए आए हैं, लेकिन हम दुनिया भर में हो रही घटनाओं और न्याय और समानता की लड़ाई के लिए भी बहुत सचेत हैं। युवा खिलाड़ियों का एक समूह होने के नाते, हम वेस्टइंडीज के समृद्ध और विविध इतिहास के बारे में जानते हैं और हम यह भी जानते हैं कि हम आने वाली पीढ़ी के खेल के संरक्षक हैं।”
होल्डर चाहते हैं कि नस्लवाद का इलाज डोपिंग और भ्रष्टाचार की तरह ही हो। उन्होंने कहा कि वह सब बहुत सोच विचार के बाद लोगो पहनने के निर्णय पर पहुंचे हैं।
होल्डर ने कहा, “हमने अपने निर्णय को हल्के में नहीं लिया है। हम जानते हैं कि लोग हमें हमारी त्वचा के रंग के हिसाब से पहचानते हैं। इसलिए हम जानते हैं कि यह कैसा लगता है, यह सीमा से परे है। समानता और एकता होनी चाहिए। जब तक हमें इंसानों के रूप में नहीं समझा जाएगा, हम नहीं रुक सकते।”
उन्होंने कहा, “हमें समान अधिकारों के लिए कोई रास्ता निकालना होगा और लोगों को उनकी त्वचा या जातीय पृष्ठभूमि के रंग के कारण अलग-अलग नहीं देखा जाना चाहिए।”
वेस्टइंडीज के खिलाड़ी सोमवार से शुरू होने वाले वॉर्म – अप मुकाबले में पहली बार इन शर्ट को पहन सकते हैं। इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज 8 जुलाई से शुरू हो रही है, जिसका पहला मुकाबला साउथैंपटन में खेला जाएगा।