Tue. Sep 21st, 2021

टिकैत के सामने लाठी लेकर क्यों खड़े हो गए ‘योगी’


लखनऊ, 07 सितंबर (हि.स.)। देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। राजनीतिक दल एक दूसरे को निशाना बना रहे हैं। कांग्रेसी नेता श्रीनिवास ने सोमवार को एक ट्वीट करके योगी पर तंज कसे। उसके जवाब में आज भारतीय जनता पार्टी ने कार्टून का एक नया पोस्टर जारी किया है। भाजपा के इस ट्वीट वाले कार्टून में कंधे पर हल रखे हुए किसान नेता राकेश टिकैत को पीछे से कुछ किसान लखनऊ की तरफ धकेल रहे हैं। टिकैत सूबे की राजधानी लखनऊ की तरफ बढ़ने से डरे हुए दिखाई दे रहे हैं क्योंकि उनके सामने भगवा वस्त्र में एक व्यक्ति लाठी लेकर खड़ा है। माना जा रहा है कि पोस्टर के भगवाधारी कोई और नहीं बल्कि भाजपा के फायर ब्रांड नेता व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ही हैं।

उत्तर प्रदेश में चार महत्वपूर्ण राजनीतिक पार्टियों में से कांग्रेस की सबसे खराब हालत है। तीन दशक से कांग्रेस उत्तर प्रदेश में सत्ता की सवारी नहीं कर सकी है। कांग्रेस नेतृत्व की तरफ से गांधी परिवार की प्रियंका गांधी वाड्रा को आगे करके उत्तर प्रदेश में पार्टी को संजीवनी देने का प्रयास किया गया है। फिर भी यहां की तस्वीर कुछ बदलती नहीं दिखाई दे रही है। कांग्रेस नेता श्रीनिवास ने सोमवार को कार्टून वाला पोस्टर ट्वीट किया। उन्होंने इस पोस्टर से यह दिखाने की कोशिश की है कि योगी सरकार किसान नेता राकेश टिकैत को उत्तर प्रदेश में नहीं आने देना चाहती थी लेकिन किसानों का आंदोलन उत्तर प्रदेश की धरती पर शुरू हो गया है। कांग्रेस नेता श्रीनिवास के पोस्टर में भगवाधारी व्यक्ति को छुपते हुए दिखाया गया है। उनका यह ट्वीट भाजपा के लोगों को नागवार गुजरा और आज भाजपा की तरफ से कार्टून के माध्यम से ही पलटवार किया गया है।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने एक पोस्टर वाला ट्वीट किया है। इसमें भगवाधारी वस्त्र में एक व्यक्ति लाठी लेकर टिकैत के सामने खड़ा है। टिकैत को कुछ लोग पीछे से आगे बढ़ने के लिए धकेल रहे हैं। वहीं वह डर के मारे आगे बढ़ने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं। राकेश त्रिपाठी ने पोस्टर के साथ ट्वीट में लिखा है कि बचके रहना रे बाबा… बचके रहना रे… आंदोलन से कोई बैर नहीं, उपद्रव की तो खैर नहीं।

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी कहते हैं कि आज उत्तर प्रदेश में विपक्ष के पास इतनी हिम्मत और साहस नहीं बचा है जो वह आंदोलन कर सके। मुद्दा विहीन विपक्ष किसान आंदोलन के नाम पर कुछ लोगों को आगे करके पीछे से समर्थन देने का काम कर रहे हैं। यह बात स्पष्ट हो चुकी है कि किस प्रकार से यह किसानों का आंदोलन नहीं बल्कि राजनीति से प्रेरित और राजनीतिक उद्देश्यों के लिए खड़ा किया गया आंदोलन है। इस आंदोलन को जनता का कोई समर्थन नहीं है। आज विपक्ष में हिम्मत नहीं है कि वह इतनी बड़ी संख्या में लोगों को जुटा सके। इसलिए सब लोग मिलकर किसानों के आंदोलन के नाम पर किसानों को बरगलाने का काम कर रहे हैं। राकेश त्रिपाठी कहते हैं कि उत्तर प्रदेश का किसान इनके बहकावे में आने वाला नहीं है। उत्तर प्रदेश का किसान योगी आदित्यनाथ के साथ मजबूती के साथ खड़ा है।