Mon. Nov 29th, 2021

कोहली को टेस्ट और एकदिनी प्रारूप में भारतीय टीम की कप्तानी नहीं छोड़नी चाहिए : सहवाग


नई दिल्ली, 9 नवंबर (हि.स.)। पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने कहा कि विराट कोहली को टेस्ट और एकदिवसीय प्रारूप में भारतीय टीम की कप्तानी नहीं छोड़नी चाहिए।

टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में नामीबिया के खिलाफ विश्व कप मैच के बाद विराट कोहली का भारतीय कप्तान के रूप में कार्यकाल समाप्त हो गया।

कोहली ने मौजूदा टी-20 विश्व कप की शुरुआत से पहले घोषणा की थी कि वह विश्व कप के बाद भारतीय टीम के कप्तानी पद को छोड़ देंगे। विश्व कप के शुरुआती दो मैचों में भारत को पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था, जिसके बाद अन्य दो प्रारूपों में भी कप्तान के रूप में कोहली के भविष्य को लेकर अटकलें लगाई जा रही थीं। लेकिन सहवाग अब कोहली के बचाव में आ गए हैं।

सहवाग ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर कोहली के कप्तानी को लेकर एक प्रशंसक द्वारा पूछे गए सवाल पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, “यह विराट का फैसला है लेकिन मुझे नहीं लगता कि उन्हें बाकी दो प्रारूपों की कप्तानी छोड़नी चाहिए। अगर वह सिर्फ एक खिलाड़ी के रूप में खेलना चाहते हैं, तो यह उनका फैसला है। मुझे लगता है कि उनकी कप्तानी में, भारत अच्छा खेल रहा है और एक के बाद एक नये रिकॉर्ड बना रहा है। वह शानदार कप्तान हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “वह एक अच्छा खिलाड़ी है, एक आक्रामक कप्तान है और सामने से नेतृत्व करता है। मैं दोहराता हूं कि वनडे और टेस्ट में कप्तानी छोड़ना या नहीं छोड़ना उनका निजी फैसला होना चाहिए।”

सहवाग ने यह भी कहा कि टीम इंडिया को आईसीसी टूर्नामेंटों में खराब प्रदर्शन पर आत्ममंथन करना चाहिए। भारत ने आखिरी बार 2013 में आईसीसी ट्रॉफी जीती थी।

उन्होंने कहा, “मुझे पता है कि हमें बुरे समय के दौरान टीम का समर्थन करना चाहिए, लेकिन हमने कोई बड़ा आईसीसी टूर्नामेंट नहीं जीता है। भारत को निश्चित रूप से इस पर आत्मनिरीक्षण करना चाहिए। द्विपक्षीय श्रृंखला जीतना एक बात है लेकिन लोग आपको केवल तभी याद करते हैं जब आप विश्व टूर्नामेंट लगातार जीतते हैं।”

भारतीय टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ 17 नवंबर से तीन मैचों की टी-20 श्रृंखला खेलनी है।