Tue. Sep 21st, 2021

पराली को जलाएं नहीं किसान, बॉयो डिकंपोजर का छिड़काव कर खेत में ही बनाएं खाद : केजरीवाल


नई दिल्ली, 13 सितंबर (हि.स.)। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अब किसानों को खेतों में पराजी जलाने की जरूरत नही हैं। उन्होंने कहा कि किसान बॉयो डिकंपोजर का छिड़काव कर पराली को खेतों में ही नष्ट कर सकते हैं। केजरीवाल ने सोमवार को एक बयान जारी कर कहा कि उन्होंने दिल्ली के 39 गांवों में,1935 एकड़ जमीन पर बॉयो डिकंपोजर का छिड़काव कराया। इस छिड़काव के बाद पराली 15 से 20 दिनों में गलकर खाद बन गई । केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार ने इसका केंद्र सरकार की एजेंसी वेबकॉस से ऑडिट भी कराया। वेबकॉस की रिपोर्ट में सामने आया कि बॉयो डिकंपोजर का छिड़काव कर पराली को एक पखवाड़े के अंदर गलाया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि पराली प्रबंधन के लिए किसानों के पास कोई ठोस उपाय नहीं था । इस कारण उन्हें मजबूरन उसे जलाना पड़ता था। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि वो केन्द्र सरकार से अनुरोध करेंगे कि किसानों के खेतों में बॉयो डिकंपोजर का छिड़काव कराने के लिए राज्य सरकारों को निर्देश दे । जिससे किसान को पराली जलाने के लिए मजबूर न होना पड़े।

उन्होंने कहा कि सर्दी के मौसम में पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने के कारण दिल्ली में प्रदूषण बढ़ जाता है। इस प्रदूषण को अब बॉयो डिकंपोजर छिड़काव कर रोका जा सकता है। इसके लिए वो केन्द्र सरकार से अनुरोध करेंगे कि राज्य सरकारों को कहें कि वो किसानों के खेतों में समय पर इसका छिड़काव करा दें। इससे किसानों को तो फायदा होगा ही साथ ही प्रदूषण पर भी लगाम लगेगा।