Wed. Sep 22nd, 2021

उप्र में पकड़े गए छह आतंकी दिल्ली पुलिस के हवाले


आतंकी जीशान ने पाकिस्तान में जाकर लिया था प्रशिक्षण

प्रदेश के कई स्थानों में धमाके की थी साजिश, विस्फोटक बरामद



लखनऊ, 15 सितम्बर (हि.स.)। नवरात्र, विजयादशमी व दीपावली जैसे पर्वो पर यूपी के कई स्थानों पर बम धमाका की साजिश रचने वाले छह आतंकियों को उप्र एटीएस ने पकड़ा है। यह आतंकी लखनऊ, रायबरेली और प्रयागराज के रहने वाले हैं। इनके पास से बड़ी मात्रा में विस्फोटक पदार्थ बरामद हुआ है। एटीएस ने अब इन आतंकियों को अग्रिम कार्रवाई के लिए दिल्ली पुलिस के हवाले किया है। इनमें से पकड़ा गया एक आतंकी प्रशिक्षण के लिए पाकिस्तान भी गया था।

एटीएस के अधिकारियों के मुताबिक, पकड़े गए आतंकी मो.आमिर जावेद लखनऊ के प्रेमवती नगर का रहने वाला है। जबकि मूलचन्द्र उर्फ साजू उर्फ लाला और जमील उर्फ जमील खतरी रायबरेली के ऊंचाहार निवासी है। मो. इम्तियाज उर्फ कल्लू, प्रतापगढ़ जीशान कमर और मो.ताहिर उर्फ मदनी दोनों प्रयागराज के रहने वाले हैं।

बताया कि केन्द्रीय जांच एजेंसी और दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल से सूचना मिली कि छह आतंकी प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर विस्फोट करने की साजिश रच रहे हैं। इसके बाद सक्रिय हुई एटीएस ने प्रदेश के चार जिलों में एक साथ छापेमारी कर इन छह आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया। इनकी निशानदेही पर प्रयागराज स्थित नैनी के डांडी से एक अतिसंवेदनशील आईईडी बरामद की है, जिससे बम निरोधक दस्ता ने निष्क्रिय कर दिया।

एक सप्ताह से रखी जा रही नजर

एटीएस के एक अधिकारी ने बताया कि केन्द्रीय जांच एजेंसी और दिल्ली पुलिस की सूचना के बाद इन आतंकियों की तलाश में की जा रही थी। लेकिन इन आतंकियों की कोई भी लोकेशन व एक्शन प्लान के बारे में सटीक जानकारी नहीं हो पा रही थी। इसके बाद एटीएस ने एक सप्ताह से भी ज्यादा इन आतंकियों का ग्राउंड सर्विलांस कर व विभिन्न माध्यमों से इनके संबंध में जानकारी एकत्र की। इस दौरान यह भी पता चला कि ये लोग भीड़भाड़ वाली जगहों पर रुके और इनके पास बड़ी मात्रा में विस्फोटक पदार्थ है। यह आतंकी विस्फोट करके आम जनमानस में भय फैलाना चाहते है।

पाकिस्तान में प्रशिक्षण ले चुका है जीशान कमर

एटीएस अधिकारियों ने बताया कि पकड़ा गया आतंकी जीशान कमर के बारे में अभी तक जो जानकारी मिली है उसके आधार पर जीशान ने एमबीए किया हुआ है। हाल में ही दुबई में बतौर अकाउंटेंट का काम कर चुका है, लेकिन लॉकडाउन के दौरान वह भारत आया और यहां पर खजूर का कारोबार करने लगा। लखनऊ से गिरफ्तार आमिर, जीशान का रिश्तेदार है। सूत्रों की मानें तो आतंकी जीशान कमर और दिल्ली पुलिस के हाथों पकड़े गए आतंकी ओसामा ने बताया है कि वे कई छोटी समुद्री यात्राओं के बाद पाकिस्तान में ग्वादर बंदरगाह के पास जिओनी पहुंचे थे। वहां एक पाकिस्तानी ने उन्हें रिसीव किया जो उन्हें पाकिस्तान में सिंध प्रांत के थट्टा इलाके में एक फार्महाउस में ले गया था। फार्म हाउस में तीन पाकिस्तानी नागरिक थे। इनमें से दो, जब्बार और हमजा ने उन्हें प्रशिक्षण दिया। उन्होंने इन दोनों को बम और आईईडी बनाने और दैनिक उपयोग की वस्तुओं की मदद से आगजनी करने का प्रशिक्षण दिया।

घर का इकलौता बेटा

करेली के सी ब्लॉक, जीटीबी नगर निवासी जीशान कमर अपने माता—पिता का इकलौता बेटा है। उसके पिता का नाम कमरुलजमा और मां का नाम शमीमा बेगम है। तीन बहनें भी हैं और वह पिता की सभी संतानों में सबसे छोटा है। उसने नैनी स्थित शुआट्स से एमबीए की पढ़ाई की थी। परिजनों ने बेटे को निर्दोष बताते हुए फंसाये जाने की बात कही है।

आमिर के भाई से पूछताछ

एटीएस ने प्रेमवती नगर में रहने वाले आतंकी आमिर जावेद के भाई सईद और एक अन्य को हिरासत में लिया है। खुफिया एजेंसियों ने दोनों से गहन पूछताछ कर रही है। इसके अलावा सउदिया में रहने वाले आमिर के बहनोई भी सुरक्षा एजेंसियों के घेरे में हैं। वे भी आमिर की मदद कर रहे थे।