Sat. Dec 4th, 2021

एडीजे को पिस्तौल दिखाने और तमाशा करने के आरोप में थानाध्यक्ष गिरफ्तार


मधुबनी,18 नवंबर (हि.स.)। जिला के झंझारपुर व्यवहार न्यायालय में गुरुवार को एडीजे अविनाश कुमार पर घोघरडीहा थानाध्यक्ष ने पिस्तौल तान दिया। कोर्ट में एडीजे प्रथम के चेंबर में घोघरडीहा थाना के एसचओ सहित दो पुलिस अधिकारी ने हमला कर दिया। पिस्टल भी ताना, जज समेत पांच अधिवक्ता इसमें जख्मी हो गए, जबकि एडीजे प्रथम अविनाश कुमार बाल-बाल बच गए।

थानाध्यक्ष के साथ इंस्पेक्टर भी उपस्थित थे। बातचीत कुछ देर चलने के बाद ही दरोगा ने पिस्टल भी निकाल लिया। एडीजे अविनाश कुमार के ऊपर पिस्तौल तान दिया। एडीजे अविनाश कुमार ने दोनों पुलिस अधिकारी को तत्काल न्यायिक हिरासत में बंद करवा दिया है। थानाध्यक्ष हमला करने और पिस्तौल चमकाने के साथ-साथ एसपी का भी नाम बार-बार ले रहे थे।

दोनों पुलिस पदाधिकारी एडीजे अविनाश कुमार पर अनाप-शनाप आरोप लगा रहे थे। एडीजे अविनाश कुमार ने शांत होकर सभी बातों को सुनते रहे। एडीजे ने तुरंत ही न्यायालय में तैनात पुलिस को दोनों पुलिस पदाधिकारी को हिरासत में बंद करने का आदेश दिए।एडीजे के आदेश पर पुलिस कर्मियों ने दोनों पदाधिकारी को हिरासत में बंद कर दिया है।

मामले के संदर्भ में बताया गया है कि न्यायालय झंझारपुर से अविनाश कुमार एडीजे की कोर्ट से घोघरडीहा थाना के थाना अध्यक्ष को विरुद्ध कुछ मामला लंबित था ।कोर्ट द्वारा थाना अध्यक्ष को जवाब देने के लिए न्यायालय में उपस्थित होकर जवाब देने का आदेश दिया गया था। इसी क्रम में गुरुवार को दोपहर को थाना अध्यक्ष व इंस्पेक्टर यहां पहुंचे। अविनाश कुमार एडीजे से भद्दी- भद्दी बातें करने लगे।

अविनाश कुमार एडीजे ने उन्हें बार-बार शांत होकर बात करने की नसीहत दिया। बावजूद थाना अध्यक्ष की रौब बढ़ता ही गया और अंत में वह एडीजे के ऊपर पिस्तौल निकालकर तान दिया। मामले के संदर्भ में बताया गया है कि एडीजे अविनाश कुमार तत्काल पुलिसकर्मियों को निर्देश दिया।दोनों पुलिस अधिकारी गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में बंद कर दिया गया है। मामले के संदर्भ में वरीय पदाधिकारी कुछ भी बताने से परहेज कर रहे हैं।

न्यायालय में अधिवक्ताओं द्वारा एडीजे अविनाश कुमार के प्रकोष्ठ में आकर इस प्रकार की प्रकरण पर काफी खेद प्रकट किया गया है। मामला उत्तेजक बताया जा रहा है। न्यायपालिका पर पुलिसकर्मियों की इस तरह के व्यवहार से जगह-जगह अफवाह का बाजार गर्म है ।झंझारपुर व्यवहार न्यायालय परिसर में अभी भी दोनों पुलिस पदाधिकारी गिरफ्तार हैं। मुख्यालय से वरीय पदाधिकारियों की टीम जिला से झंझारपुर न्यायालय के लिए रवाना होने की सूचना है।