Tue. Sep 21st, 2021

साकीनाका दुष्कर्म केस की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी, मुख्यमंत्री ने दिए आदेश


पीड़ित महिला ने अस्पताल में जीवन व मौत के बीच 33 घंटे के संघर्ष के बाद तोड़ा दम

मामले में गिरफ्तार आरोपित को अदालत ने 10 दिनों की पुलिस हिरासत में भेजा



मुंबई, 11 सितंबर (हि.स.)। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मुंबई के साकीनाका इलाके में हुई 32 वर्षीय महिला के साथ अमानवीय घटना को गंभीरता से लिया है। उन्होंने घटना के बारे में गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटील से चर्चा की और दोषी को सख्त सजा दिलाने के लिए अधिकारियों को आदेश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाया जाएगा और मामले के दोषी को सख्त से सख्त सजा दिलवाई जाएगी। इधर आरोपित मोहन चौहान को पुलिस ने अदालत में पेश किया जहां उसे दस दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।

मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा कि साकीनाका क्षेत्र में एक महिला के साथ दुष्कर्म और उसके बाद उसकी मौत मानवता को कलंकित करनेवाला कार्य है, अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी। इस मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाकर पीड़िता को शीघ्र न्याय दिलाया जाएगा।

शिवसेना प्रवक्ता संजय राऊत ने कहा कि यह घटना प्रगतिशील महाराष्ट्र की छवि को धूमिल करनेवाली है। मामले के दोषी को कड़ी सजा मिलेगी। विपक्ष को ऐसे संवेदनशील मामलों में राजनीति नहीं करनी चाहिए। विधान परिषद की उप सभापति नीलम गोर्हे ने घटना को शर्मनाक बताया है। उन्होंने कहा कि पूरे देश में महिलाओं पर अत्याचार और उत्पीड़न की घटनाएं बढ़ रही हैं। इस मामले को लेकर वे लगातार मुख्यमंत्री और संबंधित एजेंसियों के संपर्क में हैं। आरोपितों को बख्शा नहीं जाएगा। शनिवार सुबह बीएमसी महापौर किशोरी पेडणेकर ने राजावाड़ी अस्पताल जाकर दुष्कर्म पीड़ित महिला के परिजनों से मुलाकात कीं।

साकीनाका इलाके में दरिंदगी की शिकार 32 वर्षीय महिला ने अस्पताल में जीवन और मौत के बीच करीब 33 घंटे के संघर्ष के बाद शनिवार दोपहर दम तोड़ दिया। शुक्रवार को साकीनाका में एक टेंपो के अंदर इस महिला से पहले दुष्कर्म किया गया और फिर उसपर बेरहमी से हमला किया गया। पुलिस ने इलाके में लगाए गए सीसीटीवी के आधार पर घटना के कुछ ही घंटे बाद एक आरोपित को गिरफ्तार किया था। शुक्रवार तड़के पुलिस नियंत्रण कक्ष को एक जागरूक नागरिक ने फोन करके बताया कि खैरानी रोड पर एक व्यक्ति एक महिला की पिटाई कर रहा है। महिला का पता लगाने के लिए पुलिस टीम मौके पर पहुंची। खून से लथपथ महिला को बीएमसी के राजावाड़ी अस्पताल ले जाया गया। प्रारंभिक जांच के अनुसार, उसके साथ दुष्कर्म किया गया था और उसके प्राइवेट पार्ट में लोहे की रॉड से हमला किया गया था। यह घटना सड़क किनारे खड़े एक टेंपो के अंदर हुई थी। वाहन के अंदर खून के धब्बे मिले हैं।

जानकारी के अनुसार आरोपित मोहन चौहान और पीड़ित महिला पिछले दस-बारह साल से साथ में रह रहे थे। दोनों में आए दिन विवाद होते रहते थे। पीड़ित महिला को 13 और 16 वर्षीय दो बेटियां हैं, जो अपनी नानी के साथ रहती हैं। पुलिस कार्रवाई में गिरफ्तार आरोपित के खिलाफ हत्या और दुष्कर्म के तहत मामला दर्ज कर आगे की जांच पुलिस कर रही है।