Tue. Oct 26th, 2021

रोहिणी शूट आउट में चार लोग थे शामिल


गोगी को खत्म करके जज साहब के सामने चारों को करना था सरेन्डर



नई दिल्ली, 26 सितंबर (हि.स)। रोहिणी कोर्ट शूटआउट मामले में चार लोग शामिल थे। इन्हें गैंगस्टर जितेंद्र उर्फ गोगी को खत्म करके जज साहब के सामने सरेंडर करना था, लेकिन वकील के पूरे यूनीफार्म की काली जींस पहने होने के कारण एक बदमाश अपने साथी उमंग के साथ बाहर ही रुक गया था। इस कारण दो शूटर ही रोहिणी कोर्ट में दाखिल हुए थे। यह खुलासा शूटरों को कार में रोहिणी कोर्ट लेकर पहुंचे गिरफ्तार दोनों संदिग्धों ने किया।

गिरफ्तार आरोपितों में उमंग यादव और विनय यादव शामिल हैं। उमंग के बारे में यह जानकारी मिली है कि वह पिछले करीब दो सालों से टिल्लू गैंग से जुड़ा है। जबकि विनय इसका करीबी साथी है। ये दोनों ही रोहिणी शूटआउट में मारे गए मेरठ निवासी राहुल त्यागी उर्फ नितिन और सोनीपत निवासी जगदीप उर्फ जग्गा को आईटेन कार से कोर्ट लेकर आए थे। दोनों के रहने का इंतजाम भी इन्होंने ही किया था। आरोपित उमंग कार से लेकर सभी को कोर्ट पहुंचा था तो दूसरे आरोपित विनय ने वारदात वाले दिन शूटरों के फोन और कपड़ों को ठिकाने लगाया था।

20 सितम्बर को शूटर थे उमंग के फ्लैट में

मामले की जांच मे जुटी पुलिस अब इन दोनों से पूछताछ कर वारदात की परत-दर-परत कड़ियों को खोलती जा रही है। जांच में यह खुलासा भी हुआ है कि दो सालों से टिल्लू से जुड़े आरोपित उमंग यादव के फ्लैट में ही 20 सितम्बर को रोहिणी कोर्ट से तीन किलोमीटर दूर हैदरपुर इलाक़े में दोनों शूटर रुके थे। यह फ्लैट उमंग यादव का ही था। टिल्लू के कहने पर उसने ही घटना वाले दिन कोर्ट तक दोनों शूटरों को पहुंचाने का जिम्मा भी अपने ऊपर ही लिया था। और उन्हें कार से रोहिणी कोर्ट छोड़ा भी था।

ये था बैकअप प्लान

पूछताछ में यह भी खुलासा हुआ कि इन लोगों का बैकअप प्लान भी था। इस प्लान के तहत उमंग को वकील के कपड़े पहन कर बाहर कार में मौजूद रहना था जबकि दोनों शूटर को कोर्ट रूम में जाकर जितेंद्र को ख़त्म करके वापस कार में बैठकर फ़रार होना था। लेकिन जब गोगी को गोली मारने के बाद दिल्ली पुलिस ने उन्हें वहीं ढेर कर दिया और इनका प्लान फेल हुआ तो उमंग कार लेकर फरार हो गया।

वकील यूनिफार्म का आइडिया किसका था

वहीं वारदात को अंजाम देने के लिए वकील के भेष में होने वाला आइडिया गिरफ्तार आरोपित उमंग यादव का था। दरअसल आरोपित उमंग एलएलबी ड्रॉपआउट है। उसी ने विनय यादव को सलाह दी थी कि अगर शूटर वकील की ड्रेस में होंगे तो वे आसानी से हथियार लेकर रोहिणी कोर्ट में प्रवेश कर सकेंगे।

विनय यादव ने उसकी सलाह पर ही शूटर राहुल और जगदीप के लिए वकील की यूनिफार्म मॉल से खरीदी थी। खुद अमंग भी वारदात वाले दिन वकील यूनिफार्म में ही था। लेकिन एक विनय की पैंट वकील वाली नहीं होने के कारण दोनों बाहर ही रुक गए थे।