Wed. Sep 22nd, 2021

एशियाई ओलंपिक परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त हुए रणधीर सिंह


नई दिल्ली, 11 सितंबर (हि.स.)। भारतीय खेल प्रशासक रणधीर सिंह को एशियाई ओलंपिक परिषद (ओसीए) का कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।

बता दें कि शेख अहमद अल फहद अल सबाह को जिनेवा की एक अदालत में जालसाजी करने का दोषी पाये जाने के बाद अध्यक्ष पद से हटना पड़ा, जिसके बाद रणधीर सिंह को कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया गया।

अल सबाह ने ओसीए कार्यकारी बोर्ड और इसके सभी सदस्यीय राष्ट्रीय ओलंपिक समितियों को पत्र के जरिये खुद रणधीर की नियुक्ति की पुष्टि की।

अल सबाह ने पत्र में कहा, ‘‘जब तक मैं आज के फैसले के खिलाफ अपील में सफलता हासिल नहीं करता , तब तक मैंने तुरंत प्रभाव से ओसीए के अध्यक्ष पद से अस्थायी रूप से हटने का फैसला किया है। ओसीए के संविधान के अनुच्छेद 20.3 के अनुसार ओसीए कार्यकारी बोर्ड में मानद आजीवन उपाध्यक्ष और निर्वाचित सीनियर उपाध्यक्ष के तौर पर लंबे समय तक सेवारत सदस्य के रूप में राजा रणधीर सिंह ओसीए के कार्यकारी अध्यक्ष बन जायेंगे। ’’

पत्र के अनुसार, ‘‘इस दौरान राजा रणधीर सिंह ओसीए अध्यक्ष पद की सभी जिम्मेदारियों और कर्तव्यों को निभायेंगे जिसकी शुरुआत 13 सितंबर 2021 को होने वाली ओसीए कार्यकारी बोर्ड की बैठक से होगी। ’’

कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किए जाने पर रणधीर सिंह ने कहा, “मुझे पूरा विश्वास है कि शेख अहमद अपनी अपील में सफल होंगे, मुझे ओसीए के कार्यवाहक अध्यक्ष के रूप में अस्थायी रूप से सम्मानित किया जाएगा ताकि आगे के महत्वपूर्ण समय में संगठन के सुचारू संचालन को सुनिश्चित किया जा सके।”

उन्होंने कहा, “मैं ओसीए के सभी एनओसी के साथ-साथ कार्यकारी बोर्ड में अपने सहयोगियों से मेरे कर्तव्यों के निर्वहन में उनकी मित्रता और सहयोग के लिए अपील करता हूं।”

गौरतलब है कि 1991 से 2015 तक 24 साल तक ओसीए के महासचिव रहे पांच बार के ओलंपियन निशानेबाज रणधीर इस समय ओसीए के मानद आजीवन उपाध्यक्ष भी हैं।

रणधीर (72 वर्ष) 1987 से 2012 तक भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) के महासचिव भी रह चुके हैं। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के 2001 से 2014 तक पूर्ण सदस्य रहने के बाद वह इसके मानद सदस्य बन गये।