Sat. Dec 4th, 2021

रेलवे ने प्रीमियम ट्रेनों में बहाल की कैटरिंग सेवाएं


नई दिल्ली, 24 नवम्बर (हि.स.)। भारतीय रेलवे ने कोरोना के घटते मामलों के मद्देनजर राजधानी, शताब्दी, दुरंतो, वंदे भारत, तेजस और गतिमान एक्सप्रेस जैसी प्रीमियम ट्रेनों में ताजा पके भोजन के साथ ही कैटरिंग सेवाएं फिर से बहाल करने का फैसला किया है।

रेलवे बोर्ड ने इस संबंध में सभी संबंधित विभागों और हितधारकों को एक आदेश जारी कर दिया है। इसके अनुसार, यह सुविधा फिलहाल राजधानी और शताब्दी जैसी कुछ चुनिंदा प्रीमियम ट्रेनों में ही लागू होगी। इन ट्रेनों में अपना टिकट पहले ही आरक्षित करा चुके यात्रियों को भी यात्रा के दौरान पैंट्री कार की सुविधा लेने का विकल्प मुहैया कराया जाएगा।

रेलवे ने अभी तक इस सुविधा के बहाल होने की निश्चित तिथि नहीं बताई है लेकिन मंत्रालय सूत्रों के अनुसार यह सुविधा दिसम्बर माह से लागू होगी।

जोनल रेलवे सेवाओं के आधार पर खानपान की कीमत तय करेगा। साथ ही इस रेट लिस्ट को यात्रियों को टिकट बुकिंग के समय पीआरएस सॉफ्टवेयर पर भी उपलब्ध कराने की व्यवस्था करेगा ताकि वे टिकट के साथ खाने की बुकिंग भी कर सकें।

आदेश में कहा गया है कि वर्तमान में यह केवल राजधानी, शताब्दी, दुरंतो, वंदे भारत, तेजस और गतिमान श्रेणी पर लागू होगा। उन यात्रियों के लिए, जिन्होंने पहले ही टिकट बुक कर लिया है, सेवा प्रदाता को कुछ निर्देश दिए गए थे। इसके अनुसार, आईआरसीटीसी संबंधित जोनल रेलवे को उस सटीक तारीख के बारे में सूचित करेगा जब से एक विशिष्ट ट्रेन में बोर्ड के पके हुए भोजन पर खानपान सेवाएं अग्रिम रिजरवेशन के समय के भीतर आने वाली यात्राओं के लिए फिर से शुरू की जाएंगी।

आदेश में यह भी कहा गया है कि जोनल रेलवे पीआरएस सॉफ्टवेयर में खानपान सेवा शुरू होने से यात्रा की तारीखों के लिए भोजन बुक करने या खानपान सेवाओं को वापस लेने के विकल्प की अनुमति देगा।

इस सुविधा के शुरु होने से पहले ही अपना यात्रा टिकट आरक्षित करा चुके यात्रियों को भी इस सुविधा का लाभ देने के लिए रेलवे ने आईआरसीटीसी को ई-टिकट यात्रियों को पके हुए खाद्य आपूर्ति को फिर से शुरू करने के बारे में एसएमएस और ईमेल के माध्यम से सूचित करने की सलाह दी है। इसी तरह, जोनल रेलवे पीआरएस के जरिए बुक किए गए यात्रियों को बल्क एसएमएस के जरिए सूचित करेगा।

आदेश में कहा गया है कि पहले से बुक किए गए टिकटों के लिए, आईआरसीटीसी अपनी वेबसाइट पर खानपान सेवाओं का विकल्प चुनने और अग्रिम देय शुल्क का भुगतान करने की सुविधा प्रदान करेगा। यह सुविधा ई-टिकट के साथ-साथ काउंटर टिकट यात्रियों के लिए भी उपलब्ध होगी।

आदेश में कहा गया है कि ऐसे यात्री जिन्होंने पहले ही टिकट बुकिंग कर ली है और ऑनलाइन विकल्प नहीं चुना है उन्हें भी ट्रेन में अनुरोध के आधार पर नगद भुगतान पर पका हुआ भोजन उपलब्ध कराया जाना चाहिए।