Sat. Oct 16th, 2021

पंजाब: सुंडी के हमले से चार लाख एकड़ कपास की फसल तबाह, गिरदावरी रिपोर्ट आई


चण्डीगढ़, 14 अक्तूबर ( हि.स.)। पंजाब की नरमा कपास पट्टी में फसलों पर हुए सुंडी के हमले से चार लाख एकड़ कपास की फसल बर्बाद हुई है। राजस्व विभाग की जारी की गई गिरदावरी रिपोर्ट में यह बात सामने आई है।

किसान बर्बाद हुई फसल के मुआवजे को लेकर गत दस दिनों से राज्य के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल के निवास को घेरे हुए हैं। किसान 60 हजार रुपये प्रति एकड़ फसल का मुआवजा मांग रहे हैं। परन्तु पंजाब सरकार 12 हजार रुपये मुआवजा देने की बात पर अड़ी है। सरकार का दावा है कि उसकी तरफ से दिया जाने वाला 12 हजार रुपये प्रति एकड़ का मुआवजा देशभर में सबसे अधिक है, जबकि केन्द्र सरकार द्वारा तय राशि के अनुसार मुआवजा 5800 रुपये प्रति एकड़ है।

इधर, किसानों ने अपने आन्दोलन को तीव्र करने का निर्णय किया है।

गौरतलब है कि पंजाब में गुलाबी सुन्डी के हमले से कपास की फसल का भारी नुकसान हुआ है। किसानों का आरोप है कि फसल के नुकसान के बावजूद सरकार का कोई मंत्री देखने नहीं आया। राज्य के जिलों श्रीमुक्तसर, फाजिलका, मानसा और फरीदकोट के किसानों ने जिला उपायुक्तों के कार्यालय के समक्ष धरने दिये और जब बात नहीं बनी तो किसानों ने बठिण्डा में वित्त मंत्री के निवास के समक्ष धरना शुरू कर दिया।

इसी मांग को लेकर एकदिन पूर्व किसानों के शिष्टमंडल की पंजाब के प्रमुख सचिव और अन्य अधिकारियों के साथ बैठक हुई परन्तु किसान अपनी बात पर अड़े रहे परिणामस्वरूप बैठक में कोई परिणाम नहीं निकला। इधर आज किसानों ने राज्य की नरमा कपास पट्टी क्षेत्र के पांच जिलों के किसानों की बैठक बुलाई है।