Wed. Sep 22nd, 2021

राकेश जी, बीते समय की स्मृतियों के स्मरण का दिन तो होता है जन्मदिन : प्रधानमंत्री


बेगूसराय, 05 सितम्बर (हि.स.)। बिहार में बेगूसराय जिला निवासी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विचारक और राज्यसभा सदस्य प्रो. राकेश सिन्हा रविवार को 57 वर्ष के हो गए। राकेश सिन्हा के जन्मदिन पर हर ओर बधाई का तांता लगा हुआ है।

राष्ट्रवादी विचारधारा से ओतप्रोत देशभर के राजनीतिक-सामाजिक कार्यकर्ता, बुद्धिजीवी और विचारक उन्हें बधाई दे रहे हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उन्हें जन्मदिन की बधाई दी है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राकेश सिन्हा को जन्मदिन की बधाई देते हुए अपने संदेश में कहा है कि ईश्वर आपको अच्छी सेहत और खुशी प्रदान करें। कई और वर्षों की निरंतरता और राष्ट्र के लिए समर्पित सेवा जारी रहे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राकेश सिन्हा को जन्मदिवस की शुभकामनाएं देते हुए दीर्घायु जीवन की कामना किया है।

प्रधानमंत्री ने कहा है कि जन्मदिवस के इस अवसर पर आपके दीर्घ आयु, अच्छे स्वास्थ्य और मंगल की कामना करता हूं। जन्मदिन बीते समय की स्मृतियों के स्मरण का दिन तो होता ही है, साथ ही नव ऊर्जा और नए उत्साह के साथ हमें परिवार, समाज और राष्ट्र के प्रति अपने कर्तव्यों के निर्वहन को लेकर प्रेरित भी करता है। आशा करता हूं कि देश की प्रगति में आपका सतत योगदान हमें मिलता रहेगा। नए भारत के निर्माण का जो संकल्प हमने मिलकर लिया है, उसे सिद्ध करने की दिशा में हम मजबूती से आगे बढ़ते रहेंगे। ईश्वर आपके जीवन में सुख, शांति और समृद्धि बनाए रखें।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, अभिनेता और सांसद रवि किशन, वरिष्ठ भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद के साथ ही संघ परिवार और उसकेे भाजपा समेत तमाम अनुषांगिक संगठनोंं के कार्यकर्ता समेत अन्य लोग विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्म के माध्यम से बधाई दे रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि 2018 में राष्ट्रपति द्वारा राज्यसभा सदस्य के लिए मनोनीत किए गए प्रोफेसर राकेश सिन्हा का जन्म पांच सितम्बर 1964 को बिहार के बेगूसराय जिला में स्थित सुदूरवर्ती गांव मनसेरपुर में स्वतंत्रता सेनानी शिक्षाविद बंगाली सिंह के घर में हुआ था। राष्ट्रवादी विचारक के रुप में देश भर में अपनी पहचान बनाने वाले राकेश सिन्हा वर्तमान में भारतीय संसद के उच्च सदन राज्यसभा सदस्य के साथ ही तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम्स ट्रस्ट बोर्ड और सदन में गृह मामलों की संसदीय समिति के सदस्य भी हैं। दिल्ली विश्वविद्यालय में एसोसिएट प्रोफेसर रह चुके प्रो. सिन्हा ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संस्थापक के.बी. हेडगेवार की जीवनी सहित कई पुस्तकें लिखी है।