Mon. Aug 2nd, 2021

पूर्व नियोजित थी बंगाल में चुनाव बाद हुई हिंसा-कमेटी ने जांच के बाद कहा


बंगाल में जांच करने गई कमेटी ने अपनी रिपोर्ट केन्द्रीय गृह मंत्रालय को सौंपी

 परिणाम आने के बाद राज्य में 15 हजार हिंसा की घटनाओं में 25 की हुई थी हत्या



नई दिल्ली/कोलकाता, 29 जून (हि.स.)। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद राज्यभर में हुई हिंसा के मामले में सेंट्रल फैक्ट फाइडिंग कमेटी ने अपनी रिपोर्ट मंगलवार को केन्द्रीय गृह मंत्रालय को सौंप दी है। रिपोर्ट में बताया कि पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद हुई हिंसा पूर्व नियोजित थी। इस कमेटी की रिपोर्ट के बाद अब केन्द्रीय गृह मंत्रालय आवश्यक कदम उठाएगा।

केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी ने मंगलवार को इस संबंध में बताया कि पश्चिम बंगाल में चुनाव परिणाम आने के बाद कई स्थानों पर हुई हिंसा की जांच करने के लिए पांच सदस्यीय एक सेंट्रल फैक्ट फाइडिंग कमेटी का गठन किया गया था। उस कमेटी ने अपनी रिपोर्ट को आज  केन्द्रीय गृह मंत्रालय को सौंप दी है। उन्होंने बताया कि रिपोर्ट के अनुसार चुनाव के बाद राज्य में 25 लोगों की हत्या हुई हैं। जबकि 15 हजार हिंसा की घटनाएं हुई और 7 हजार  महिलाओं पर अत्याचार हुआ है।

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री ने बताया कि रिपोर्ट के अनुसार 16 ज़िलों में राजनीतिक हिंसा हुई। इस हिंसा के चलते नुक़सान और डरकर तमाम लोग दूसरे राज्यों में चले गए हैं। उन्होंने कहा कि कमेटी की रिपोर्ट को गृह मंत्रालय जांच करेगा और जो भी कदम उठाने होंगे वह उठाए जाएंगे। उल्लेखनीय है कि कमेटी की 63 पेजों की रिपोर्ट में ममता सरकार को हिंसा रोकने में पूरी तरह से नाकाम बताया गया।