Sat. Aug 8th, 2020

प्रधानमंत्री ने आत्मनिर्भर भारत इनोवेशन चैलेंज किया लॉन्च, 20 लाख रुपये तक नकद इनाम


नई दिल्ली, 04 जुलाई (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डिजिटल इंडिया आत्मनिर्भर भारत इनोवेशन चैलेंज शनिवार को लॉन्च किया। दरअसल इसका मकसद भारत में बने ऐप्स को बढ़ावा देना है। बता दें कि भारत सरकार ने इसी हफ्ते 59 चाइनीज ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया था, जिसमें टिकटॉक और शेयर इट आदि शामिल हैं।

इसके बारे में पीएम मोदी ने ट्वीट किया कि यदि आपके पास कोई वर्किंग प्रोडक्ट है या आपको लगता है कि आपके पास ऐसे प्रोडक्ट्स तैयार करने के लिए विजन है, तो आपके लिए यह चैलेंज है। इसके साथ ही उन्होंने लोगों से इसमें भाग लेने का आग्रह भी किया। दरअसल प्रधानमंत्री ने लिंक्डइन पर टेक प्रोफेशनल्स को संबोधित करते करते हुए ये बात कही है। इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने भी ट्वीट करके ये जानकारी दी कि प्रधानमंत्री ने भारतीय ऐप निर्माताओं और नवोन्मेषकों को प्रोत्साहित करने के लिए ये शुरुआत की है।

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रोद्यौगिकी मंत्रालय, अटल इनोवेशन मिशन के साथ मिलकर आत्मनिर्भर इनोवेशन चैलेंज को शुरू कर रहा है। इसके तहत केवल भारतीय उद्यमी और स्टार्टअप ही अलग-अलग कैटेगरी में भाग ले सकते हैं। ये इनोवेशन चैलेंज innovate.mygov.in पर उपलब्ध होगा। इसमें सब्मिट करने की आखिरी तारीख 18 जुलाई है।
इसके लिए आवेदन करने वाले व्यक्ति को ऑनलाइन अप्लाई करना होगा। इसके लिए उसे MyGov वेबपोर्टल www.mygov.in पर लॉग इन और रजिस्टर करके अपने प्रस्ताव को सब्मिट करना होगा। सबसे अहम बात ये है कि एक बार प्रस्ताव के सब्मिट हो जाने पर किसी तरह के बदलाव को मंजूरी नहीं मिलेगी और गलत जानकारी देने पर प्रस्ताव को सीधे रिजेक्ट कर दिया जाएगा।

चयन प्रक्रिया और इनाम की राशि
इस चैलेंज के तहत चयन की प्रक्रिया में दो पड़ाव होंगे। इसमें पहले पड़ाव में योग्य एंट्री की स्क्रीनिंग की जाएगी, जबकि दूसरे स्टेज में ज्यूरी द्वारा मूल्यांकन प्रदर्शन के साथ होगा। चयन निजी सेक्टर से विशेषज्ञों और शैक्षणिक क्षेत्र के लोग करेंगे। इस चैलेंज में आखिरी घोषणा 7 अगस्त, 2020 को किया जाएगा।  आत्मनिर्भर इनोवेशन चैलेंज में मुख्य 8 कैटेगरी होंगी।

उल्लेखनीय है कि ये कैटेगरी ऑफिस प्रोडक्टिविटी और वर्क फ्रॉम होम, सोशल नेटवर्किंग, ई-लर्निंग, एंटरटेनमेंट, हेल्थ एंड वेलनेस, बिजनेस जिसमें एग्रीटेक और फिनटेक, न्यूज और गेम शामिल है। प्रत्येक कैटेगरी में इनाम दिए जाएंगे। इनमें पहला इनाम 20 लाख रुपये, दूसरा इनाम 15 लाख रुपये और तीसरा इनाम 10 लाख रुपये का होगा। इन कैटेगरी के अलावा ज्यूरी हर कैटेगरी में सब-कैटेगरी बनाकर उसमें भी इनामी की राशि दे सकते हैं। इसमें पहला इनाम 5 लाख रुपये, दूसरा इनाम 3 लाख रुपये और तीसरा इनाम 2 लाख रुपये का मिलेगा।