Sat. Aug 8th, 2020

केन्द्रीय गृहमंत्री शाह से मिला पाकिस्तानी हिन्दू शरणार्थियों का प्रतिनिधिमंडल


गृहमंत्री शाह ने नागरिकता का दिया आश्वासन



नई दिल्ली, 05 जुलाई (हि.स.)। केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने पाकिस्तान से आए हिन्दू शरणार्थियों के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की। शाह ने हिन्दू शरणार्थियों को भरोसा दिलाया कि उन्हें भारत का वीजा लंबे समय तक के लिए प्रदान करवाया जाएगा, जिससे कि वे देश में बस सकें और नागारिकता दिलाने में तेजी लाई जा सके।

गृहमंत्री शाह से शनिवार को मिलने गए हिन्दू शरणार्थियों के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने किया। सिरसा ने शाह से अपील की कि जो परिवार टूरिस्ट, श्रद्धालु और विज़िटर वीज़ा पर भारत आए हैं, उन्हें यहां की नागरिकता दी जाए।

सिरसा ने शाह को बताया कि तकरीबन 750 हिन्दू मजनू का टीला गुरुद्वारा साहिब के उत्तर में यमुना के किनारे पर टेंटों में रह रहे हैं। यह लोग पड़ोसी मुल्क से भाग कर यहां आए हैं और यहां शरण चाहते हैं, जबकि कई अन्य नई दिल्ली के बाहरी रोहिणी सेक्टर 9 और 11, आदर्श नगर व सिग्नेचर ब्रिज के नज़दीक बसे हुए हैं। गृहमंत्री शाह ने प्रतिनिधिमंडल को भरोसा दिलाया कि सभी हिन्दू शरणार्थियों को देश की नागरिकता प्रदान की जाएगी और परिवार के मुख्य को एक सर्टिफिकेट दिया जाएगा, जो पूरे परिवार के लिए मान्य व वैध होगा।

इस मौके पर सिरसा ने शाह से पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों द्वारा महसूस की जा रही असुरक्षा की भावना पर भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में हिन्दू व अन्य अल्पसंख्यक असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। अल्पसंख्यकों की नौजवान बेटियां भी असुरक्षित महसूस कर रही हैं क्योंकि उन्हें डर है कि वहां कट्टरवादियों द्वारा उन्हें अगवा न कर लिया जाए। वहां हिन्दू व सिख लड़कियों को अगवा करना एक आम बात हो गई है और हर परिवार कट्टरवादियों के खिलाफ पुलिस में शिकायत करने से डरता है।