Sun. Jan 23rd, 2022

पाकिस्तान की जेल से रिहा 20 भारतीय मछुआरों की होगी वतन वापसी


कराची, 14 नवंबर (हि.स.)। पाकिस्तान की लांडी जेल में चार साल की सजा काटने के बाद रिहा किए 20 भारतीय मछुआरों की सोमवार को वतन वापसी होगी। रविवार को इन कैदियों को वाघा बॉर्डर लाया गया है, जहां से इनको अटारी सीमा पर भारतीय अधिकारियों को सौंपा जायेगा।

पाकिस्तान से रिहा होने वाले गुजरात के 20 मछुआरे उन 350 भारतीय मछुआरों में से हैं जिनकी चार साल की सजा पूरी हो चुकी है। इन सभी मछुआरों को अलग-अलग जत्थों में छोड़ा जाएगा। जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इन 20 मछुआरों को रविवार सुबह वाघा-अटारी सीमा लाया गया। गैर लाभकारी सामाजिक कल्याण संगठन ईधी ट्रस्ट फाउंडेशन ने इन मछुआरों को सुरक्षित तरीके से वाघा सीमा तक ले जाने के लिए बंदोबस्त किए थे। इन मछुआरों को पाकिस्तान समुद्री सुरक्षा बल ने पाकिस्तान के जल क्षेत्र में कथित तौर पर गैरकानूनी तरीके से मछली पकड़ने पर गिरफ्तार किया था।

भारत और पाकिस्तान की जेलों में बंद दोनों देशों के गरीब मछुआरों को छुड़वाने के लिए काम करने वाले संगठनों का कहना है कि पाकिस्तान की जेलों में करीब 600 भारतीय मछुआरे बंद हैं। जेल प्राधिकरण ने कहा कि अन्य 350 भारतीय मछुआरों को जत्थों में छोड़ा जाएगा। इससे पहले दोनों देशों के विदेश कार्यालय के जरिए उनकी नागरिकता की पुष्टि की जाएगी।