Sat. Sep 18th, 2021

सुरक्षा कारणों से पाकिस्तान ने अफगानिस्तान के साथ चमन सीमा बंद की


इस्लामाबाद, 03 सितम्बर (हि.स.)। पाकिस्तान ने सुरक्षा कारणों को ध्यान में रखते हुए अफगानिस्तान के साथ चमन सीमा को बंद कर दी है।

पाकिस्तान के आंतरिक मंत्री शेख राशिद का कहना है कि हम क्षेत्र में शांति और स्थिरता चाहते हैं। साथ ही हमने सीमा पर फेंस लगा दी है। राशिद ने बताया कि कुछ कारणों से चमन की सीमा को अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया है। हम इसे और आगे बढ़ने नहीं देंगे। अब पाकिस्तान में कोई भी अमेरिकी बाकी नहीं रहा है। जो आए थे वह सब चले गए हैं।

दरअसल तालिबान के अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद लोगों की भीड़ पैदल चमन सीमा की ओर रवाना हुई। चमन सीमा पर कोरोनावायरस हेल्थ टीम के अध्यध हमीद उल्लाह ने बताया कि लगभग 18,000 लोग अब प्रतिदिन सीमा पार कर रहे हैं।

देश की सेना की मीडिया विंग के महानिदेशक ने बताया कि पाकिस्तान का मानना है कि अफगानिस्तान में आने वाली सरकार प्रतिबंधित तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के खिलाफ प्रभावी कदम उठाएगी।

इससे पहले पिछले हफ्ते पाकिस्तान के इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस के महानिदेशक मेजर जनरल बाबर इफ्तिखार ने कहा था कि इस्लामाबाद को काबुल में नई राजनीतिक व्यवस्था के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध की उम्मीद थी।

पाकिस्तान ने युद्धग्रस्त पड़ोसी देश से संचालित प्रतिबंधित टीटीपी से जुड़े मोस्ट वांटेड आतंकियों की सूची तालिबान को सौंपी है। हाल ही में काबुल पर नियंत्रण करने के बाद पाकिस्तान ने तालिबान प्रमुख हैबतुल्लाह अखुंदजादा के साथ सूची साझा की है।