Sat. Jul 31st, 2021

लखनऊ : फरार सात आतंकियों में से एक और मलिहाबाद से गिरफ्तार


अन्य चार आतंकियों को पकड़ने के लिए एटीएस, खुफिया विभाग की टीम जुटी

 सीसीटीवी फुटेज को खंगालते हुए एटीएस को है ब्लैक कार की तलाश



लखनऊ, 11 जुलाई (हि.स.)। राजधानी लखनऊ में पकड़े गए दो आतंकियों के एक और साथी को उप्र एटीएस ने मलिहाबाद से गिरफ्तार किया है। अब तक कुल तीन आतंकी पकड़े जा चुके हैं, जबकि चार अन्य आतंकियों को पकड़ने के लिए एटीएस, खुफिया विभाग की टीम जुटी हुई है।

मलिहाबाद के लोगों का कहना है कि ब्लैक कार से यहां पर सात लोग आये थे। दो यहां रुक गए, जबकि पांच आतंकी कार से वापस चले गये थे। इसी बीच एटीएस ने आज सुबह काकोरी इलाके को घेरकर दो आतंकियों शाहिद उर्फ गुड्डू और वसीम को पकड़ लिया, जिनसे पूछताछ जारी है। जिस बिल्डिंग से एटीएस ने इन्हें गिरफ्तार किया है, वहां से काफी दस्तावेज भी मिले हैं। काकोरी से हिरासत में लिए गए दो संदिग्ध अलकायदा आतंकी सूबे की राजधानी में बड़ा धमाका करने की फिराक में थे। इनकी योजना तीन दिन में लखनऊ में एक सांसद के साथ अन्य भाजपा नेताओं को बम विस्फोट में उड़ाने की थी। इन दो संदिग्धों के पास से प्रेशर कुकर बम भी मिला है जो काफी हैवी विस्फोटक है और लाइव बम बरामद हुआ है।

इसी बीच फरार एक और आतंकी को मलिहाबाद से एटीएस ने पकड़ने में कामयाबी हासिल की है। फरार अन्य साथियों की तलाश में एटीएस और आईबीस समेत कई जांच एजेंसियां जुटी हुई है। सूत्रों की मानें तो जम्मू-कश्मीर के पुलिस अफसर भी सम्पर्क में हैं। उमर अल-मंदी इन आतंकियों का कंट्रोलर था। इनकी पाकिस्तान-अफगानिस्तान बॉर्डर से हैंडलिंग हुई। एटीएस को छोटे ब्लॉस्ट की वजह से सुराग मिला था। गिरफ्तारी से पहले आतंकियों ने कुछ दस्तावेज जलाए भी हैं।

एटीएस के आईजी जी.के. गोस्वामी ने बताया कि आतंकियों को पकड़ने के लिए अभी अभियान चल रहा है। पकड़े गए आतंकियों से बम और कई असलहें मिले हैं। आतंकियों से पूछताछ जारी है। उन्होंने बताया कि यह आतंकी बड़ी घटना को अंजाम देने आए थे। उन्होंने बताया कि यूपी और लखनऊ में सिलसिलेवार ब्लास्ट की प्लानिंग थी। इनके पास से लाइव बम भी बरामद हुआ है। संदिग्ध आतंकियों का कश्मीर से लिंक है। ये स्लीपर सेल थे पर अब एक्टिव होकर काम कर रहे थे।

लखनऊ और आसपास के जिलों में सघन अभियान जारी

राजधानी में पकड़े गए तीन आतंकियों के फरार साथियों की तलाश में लखनऊ समेत आसपास के जिलों में छापेमारी की कार्रवाई की जा रही है। पुलिस मुख्यालय ने प्रदेश में हाई अलर्ट कर दिया गया है। लखनऊ में चौराहों पर लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगालते हुए ब्लैक कार की तलाश की जा रही है।