Sat. Jul 31st, 2021

नेपाली प्रधानमंत्री देउबा ने हासिल किया विश्वास मत, प्रधानमंत्री मोदी ने दी बधाई


काठमांडू, 19 जुलाई (हि.स.)। नेपाल के नए प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने रविवार को संसद में विश्वास मत हासिल कर लिया। देउबा की सरकार के पक्ष में 165 वोट पड़े। 83 सांसदों ने नवगठित सरकार के विरोध में मतदान किया। सरकार ने संसद में आसानी से बहुमत साबित हासिल कर लिया। संसद की प्रतिनिधि सभा में 275 सदस्य हैं। देउबा ने 13 जुलाई को रिकॉर्ड पांचवीं बार नेपाल के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी।

इसस पहले सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश चोलेंद्र शमशेर राणा के नेतृत्व में पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने पांच माह के भीतर दूसरी बार संसद को बहाल करने का आदेश दिया था। संसद के निचले सदन में नेपाली कांग्रेस के 61 सदस्य हैं, जबकि उसकी गठबंधन साझेदार नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी केंद्र) के 48 सदस्य हैं। मुख्य विपक्षी ओली की पार्टी सीपीएन-यूएमएल के 121 सदस्य हैं, जबकि जनता समाजवादी पार्टी के 32 सदस्य हैं। इसके अलावा तीन छोटी पार्टियों के एक-एक सदस्य हैं। एक निर्दलीय सांसद भी है। सीपीएन-यूएमएल के 26 सदस्य माधव नेपाल के करीबी हैं और उन्होंने देउबा के सरकार बनाने के दावे का समर्थन किया था। जनता समाजवादी पार्टी के यादव गुट ने भी देउबा का समर्थन किया है।

देउबा के रविवार को नेपाल की संसद में विश्वास मत हासिल किए जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक ट्वीट के जरिए उन्हें बधाई दी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा को बधाई और सफल कार्यकाल के लिए शुभकामनाएं। प्रधानमंत्री ने कहा कि वह नेपाल के साथ अपनी विशिष्ट साझेदारी को और मजबूत बनाने के लिए उनके साथ काम करने को लेकर उत्सुक हैं।

इसके जवाब में देउबा ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री मोदी का धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि वे दोनों देशों और लोगों के बीच संबंधों को मजबूत करने के लिए उनके साथ मिलकर काम करने की आशा करते हैं।

देउबा भारत समर्थक माने जाते हैं। यही वजह है कि उनके पीएम बनने से भारत से रिश्तों में मजबूती आने की उम्मीद की जा रही है।