Tue. Oct 26th, 2021

एनसीपीयूएल के डायरेक्टर प्रो. अकील को मिला एनसीपीएसएल का अतिरिक्त पदभार


नई दिल्ली, 25 सितंबर (हि.स.)। राष्ट्रीय उर्दू भाषा विकास परिषद (एनसीपीयूएल) के निदेशक प्रो. अकील अहमद को राष्ट्रीय सिंधी भाषा विकास परिषद (एनसीपीएसएल) के निदेशक का अतिरिक्त पदभार सौंपा गया है। केंद्र सरकार के शिक्षा मंत्रालय ने यह जानकारी दी है।

मंत्रालय द्वारा इस सम्बंध में जारी आदेश तत्काल प्रभाव से लागू होगा। इसके अनुसार एनसीपीयूएल के निदेशक प्रो. अकील अहमद एनसीपीएसएल के डायरेक्टर के पद पर अगली रेगुलर नियुक्ति होने तक या एनसीपीयूएल के डायरेक्टर के अपने कार्यकाल के समाप्त होने तक इस पद पर बने रहेंगे।

गौरतलब है कि केन्द्रीय शिक्षा मंत्रालय ने राष्ट्रीय उर्दू भाषा विकास परिषद (एनसीपीयूएल) के निदेशक प्रो. शेख अकील अहमद के कार्यकाल को हाल में दो साल के लिए विस्तार देने का निर्णय किया था। प्रो. अकील का कार्यकाल 29 सितम्बर, 2021 को समाप्त होने वाला था लेकिन इससे पहले ही शिक्षा मंत्रालय ने एनसीपीयूएल में उनके बेहतर कामों को देखते हुए उनके सेवाकाल में विस्तार करने का नोटिफिकेशन जारी किया था। इस पद पर उनकी नियुक्ति 28 सितम्बर, 2018 को तीन साल के लिए की गई थी।

प्रो. शेख अकील अहमद उर्दू भाषा के विकास और उत्थान के लिए हमेशा से आगे आगे रहते हैं। वह दर्जनभर से अधिक किताबों के लेखक हैं और उनके कई लेख और शोधपत्र अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त मैगजीन व समाचार पत्रों में छपते रहे हैं।

एनसीपीएसएल के निदेशक का अतिरिक्त पदभार मिलने पर उन्होंने कहा कि केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने उन पर भरोसा जताते हुए जो नई जिम्मेदारी सौंपी है, उसका वह पूरी मेहनत और लगन के साथ निर्वहन करने की कोशिश करेंगे। साथ ही उर्दू की तरह ही वह इस पद पर रहते हुए सिंधी भाषा के उत्थान के लिए हर संभव प्रयास करेंगे।

गौरतलब है कि एनसीपीयूएल के निदेशक बनने से पहले प्रो. शेख अकील अहमद दिल्ली के सत्यवती कॉलेज में प्रोफेसर थे। यहां पर भी वह उर्दू भाषा के विकास, उत्थान और पठन-पाठन के कार्यों में जुटे रहे।