Sat. Dec 4th, 2021

प्रतिष्ठित ग्रैमी अवार्ड पाने की रेस में काशी के संगीतकार पं. देवव्रत मिश्र भी शामिल


 पहली बाधा पार की, कलाकार के ‘योग मंत्रा एल्बम को ‘न्यू एज म्यूजिक एल्बम कैटेगरी में कंसीडर किया गया



वाराणसी, 08 नवम्बर (हि.स.)। धर्म नगरी काशी के प्रतिभाशाली संगीतकार पं. देवव्रत मिश्र विश्व के प्रतिष्ठित ग्रैमी अवार्ड पाने की रेस में शामिल है। तीन चरणों में होने वाली नॉमिनेशन की प्रक्रिया में भारतीय कलाकार ने पहली बाधा को पार कर लिया है। उनके ‘योग मंत्रा एल्बम को अगले वर्ष 2022 में अमेरिका के लॉस एंजिलिस में आयोजित होने वाले 64वें ग्रैमी अवॉर्ड्स के लिए भारत की ओर से ‘न्यू एज म्यूजिक एल्बम कैटेगरी में कंसीडर किया गया है।

इसकी जानकारी रविवार को होने पर काशी के संगीत प्रेमियों और कलाकारों में खुशी की लहर दौड़ गई। लोगों ने सोशल मीडिया के जरिये प्रतिभाशाली कलाकार को बधाई दी। देवव्रत मिश्र ने लोगों की बधाई विनम्रता से स्वीकार की। प्रतिभाशाली कलाकार ने बताया कि उनके एल्बम का नाम कंसीडर किए जाने की जानकारी खुद ग्रैमी आयोजक मंडल, लॉस एंजेलिस द्वारा ईमेल एवं फोन पर दी गई है।

देवव्रत ने कहा कि यह सब काशी विश्वनाथ के आशीर्वाद, गुरु एवं माता-पिता के मार्गदर्शन तथा काशी वासियों के अपार स्नेह का प्रतिफल है। यदि मैं इस सम्मान के लिए चुना जाता हूं तो यह मेरा व्यक्तिगत नहीं अपितु अपितु हमारी समृद्ध शास्त्रीय संगीत की परंपरा का सम्मान होगा। बताते चले कि ‘योग मंत्रा’ एल्बम गायन एवं सितार वादन पं. देवब्रत मिश्रा का है। जबकि इस एल्बम में अमेरिका के डीन एवेंसन का सिल्वर फ्लूट एवं प्रशांत मिश्रा का तबला वादन शामिल है। एल्बम को पहचान इसमें शामिल गायत्री मंत्र से मिली है। मंत्र राग मेघ पर आधारित है।

इसके अलावा इस एल्बम में गणेश मंत्र, ध्रुपद अंग गायकी, शिव मंत्र, गुरु मंत्र आदि का समावेश भी अलग-अलग रागों में है। इस एलबम की रिकॉर्डिंग अमेरिका की प्रसिद्ध म्यूजिक कंपनी साउंडिंग ऑफ द प्लानेट द्वारा की गई है। योग मंत्रा एल्बम को पिछले दिनों अमेरिका की प्रतिष्ठित कवर संस्था द्वारा 2021 का वर्ल्ड फ्यूजन म्यूजिक कैटेगरी में विजनरी अवार्ड प्रदान किया जा चुका है। ग्रैमी अवार्ड की घोषणा 31 जनवरी को अमेरिका के लास एंजलिस में ही की जाएगी। ग्रैमी अवार्ड की घोषणा को लेकर काशी के संगीत प्रेमी भी उत्साहित है।