Tue. Sep 22nd, 2020

अनुसंधान के लिए सीएसआईआर और एफएसएसएआई के बीच हुआ समझौता


डॉ. हर्षवर्धन ने किया समझौते पर हस्ताक्षर 



नई दिल्ली, 07 अगस्त (हि.स.)। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने शुक्रवार को वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) और खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। एमओयू का उद्देश्य खाद्य और पोषण के क्षेत्र में सहयोगात्मक अनुसंधान और सूचना प्रसार करना है। इस मौके पर स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे भी मौजूद थे।
समझौते के मसौदे पर बोलते हुए डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि सही भोजन के महत्व को समझाने के लिए यह समझौता एक बहुत ही महत्वपूर्ण कदम है। इस कदम से खाद्य, पोषण व खाद्य और उपभोक्ता सुरक्षा के क्षेत्र में सहयोगात्मक अनुसंधान हो सकेगा। भारत के यह दो प्रमुख संस्थान न्यू फूड सिस्टम 2050 के विजन को पूरा करेंगे। डॉ. हर्षवर्धन ने ईट राइट इंडिया अभियान के लिए रॉकफेलर फाउंडेशन द्वारा पुरस्कार के लिए दस वैश्विक संगठनों में से एक के रूप में चुने जाने पर एफएसएसएआई को भी बधाई दी। यह पुरस्कार उन संगठनों को मान्यता देता है, जिन्होंने वर्ष 2050 तक पौष्टिक भोजन प्रणाली को प्रोत्साहित करने की दिशा में काम करना शुरू किया है।
डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि यह पुरस्कार खाद्य सुरक्षा और पोषण के प्रति एफएसएसएआई के समग्र और पथप्रदर्शक दृष्टिकोण को मान्यता देता है। उन्होंने कहा कि सभी लोग शारीरिक व्यायाम व पौष्टिक भोजन को अपना कर स्वस्थ्य शरीर पा सकते हैं। उन्होंने कहा कि ईट राइट इंडिया के तहत स्वस्थ और सही भोजन की संस्कृति विकसित करने के साथ साथ खाद्य उत्पादन, प्रसंस्करण, वितरण, गुणवत्ता और सही खाने के तरीकों को अपनाने के लिए उपभोक्ताओं को सशक्त बनाने की दिशा के बारे में है।