Tue. Sep 21st, 2021

पाकिस्तान के मुख्य कोच मिस्बाह-उल-हक और गेंदबाजी कोच वकार यूनिस ने दिया इस्तीफा


लाहौर, 6 सितंबर (हि.स.)। पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के मुख्य कोच मिस्बाह-उल-हक और गेंदबाजी कोच वकार यूनिस ने अपने-अपने पदों से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने सोमवार की सुबह पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) को अपने फैसलों से अवगत कराया।

पीसीबी ने सकलैन मुश्ताक और अब्दुल रज्जाक को न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन एकदिनी और पांच टी20 मैचों की श्रृंखला के लिए अंतरिम कोच नियुक्त किया है। आईसीसी पुरुष टी20 विश्व कप 2021 के लिए प्रबंधन नियत समय पर दोनों पदों पर नियुक्ति करेगा।

पीसीबी ने अपने आधिकारिक बयान में कहा, “मिस्बाह और वकार को सितंबर 2019 में नियुक्त किया गया था और अभी भी उनके अनुबंध में एक साल बाकी है।”

मिस्बाह-उल-हक ने कहा, “वेस्टइंडीज श्रृंखला के बाद जमैका में संगरोध ने मुझे पिछले 24 महीनों के साथ-साथ आगे के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के कार्यक्रम को प्रतिबिंबित करने का अवसर प्रदान किया। यह देखते हुए कि मुझे अपने परिवार से दूर और वह भी जैव सुरक्षित वातावरण में काफी समय तक रहना होगा, मैंने भूमिका से हटने का फैसला किया है।”

उन्होंने आगे कहा,”मैं समझता हूं कि समय आदर्श नहीं हो सकता है, लेकिन मुझे नहीं लगता कि मैं आने वाली चुनौतियों के लिए मानसिक रूप से स्वस्थ हूं। मैं अपनी टीम और प्रबंधन को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। मैं पाकिस्तान क्रिकेट टीम को आगामी प्रतियोगिताओं के लिए शुभकामनाएं देता हूं।”

वहीं, वकार यूनुस ने कहा, “मिस्बाह के साथ अपने निर्णय और भविष्य की योजनाओं को साझा करने के बाद, मेरे लिए इस्तीफा देना एक सीधा-सादा कदम था क्योंकि हम एक साथ इन भूमिकाओं में आए थे और एक जोड़ी के रूप में सामूहिक रूप से काम किया था और अब एक साथ हटने का फैसला किया है। युवाओं सहित पाकिस्तान के गेंदबाजों के साथ काम करना सबसे अधिक संतोषजनक रहा है क्योंकि उन्होंने अब प्रगति दिखाना शुरू कर दिया है। पिछले 16 महीनों में जैव-सुरक्षित वातावरण ने अपना प्रभाव डाला है, यह कुछ ऐसा है जो हमने अपने खेल के दिनों में कभी अनुभव नहीं किया था।”

उन्होंने आगे कहा,”अगले आठ महीने पाकिस्तान टीम के लिए व्यस्त और रोमांचक होंगे और, पहले की तरह, मैं उनका समर्थन करना जारी रखूंगा। मैं पाकिस्तान क्रिकेट टीम के प्रत्येक सदस्य को धन्यवाद देना चाहता हूं और आशा करता हूं कि आने वाले दिन उज्जवल होंगे।”