Fri. Jul 30th, 2021

आतंकियों के निशाने पर थे मुख्यमंत्री योगी, सुनील बंसल समेत कई भाजपा नेता


उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट, लखनऊ के आसपास जिलों में सघन तलाशी

 दुबग्गा, चौक और मलिहाबाद इलाके को सुरक्षा एजेंसियों ने सील किया



लखनऊ, 11 जुलाई (हि.स.)। उत्तर प्रदेश एटीएस ने राजधानी लखनऊ से आतंकी संगठन अलकायदा के दो संदिग्ध आतंकियों को पकड़ा है। इनके निशाने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, सुनील बंसल समेत कई नेता थे। आईबी, एटीएस और खुफिया टीम लोगों से पूछताछ कर रही है।

एटीएस ने इलाके को किया सील

यूपी एटीएस, एनएसजी कमांडो और भारी संख्या में पुलिस फोर्स ने दुबग्गा, चौक और मलिहाबाद के इलाके को सील कर दिया है। किसी को भी आने जाने नहीं दिया जा रहा है। मौके पर एटीएस के आईजी जीके गोस्वामी समेत अन्य पुलिस अधिकारी मौके पर मौजूद है। आसपास के घरों को खाली करा दिया गया है। एटीएस का सर्च ऑपरेशन जारी है। एटीएस ने जिस जगह से दोनों आतंकियों को पकड़ा हैए वहां से पांच मकान छोड़कर मोहनलाल गंज से भाजपा सांसद कौशल किशोर का आवास है।

आतंकियों ने जलाये दस्तावेज

एटीएस की छापेमारी की जानकारी होने पर इन दोनों आतंकियों ने अहम दस्तावेज जलाए हैं। सूत्रों की माने तो इनके पास लखनऊ, गोरखपुर समेत कई सार्वजनिक स्थानों के नक्शे थे। इनके पास से कई जेहादी किताबें और अन्य चीजें मिली है। पकड़े गए एक संदिग्ध का नाम शाहिद है. वह मलिहाबाद का रहने वाला बताया गया है। जिस मकान पर छापा पड़ा वह शाहिद का ही है, यहां वह परिवार के साथ रहता है और मोटर गैराज का काम करता है।

उमर अल-मंदी इन आतंकियों का कंट्रोलर था

पकड़े गए इन आतंकियों का कंट्रोलर उमर अल-मंदी है। सूत्रों की माने तो पकिस्तान-अफगानिस्तान बार्डर से इनकी हैंडलिंग हुई है। छोटे ब्लॉस्ट की वजह से एटीएस को सुराग मिला था। एटीएस ने जम्मू कश्मीर के पुलिस अफसर भी सम्पर्क में है। आईजी एटीएस जीके गोस्वामी भी मौके पर मौजूद हैं।

उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट जारी किया गया

राजधानी में दो आतंकी पकड़े गए हैं जबकि पांच के भाग निकले है। इनकी तलाश में एटीएस और सुरक्षा एजेंसी जुट गई हैं। डीजीपी मुकुल गोयल ने लखनऊ समेत पूरे प्रदेश को हाई अलर्ट कर दिया है। राजधानी से जुड़े आसपास के जनपदों के पुलिस कप्तानों को सतर्क रहने के साथ सघन चेकिंग चलाने के निर्देश दिए हैं।