Sat. Dec 4th, 2021

दिल्ली में हत्या को छोड़कर सभी अपराधों का ग्राफ बढ़ा


नई दिल्ली, 13 नवंबर (हि.स.)। लॉकडाउन के बाद 2021 दिल्ली पुलिस के लिए चुनौती भरा रहा। बदमाशों ने जमकर अपराध किये, राजधानी में होने वाले अधिकांश अपराधों में इस वर्ष बढ़ोतरी दर्ज की गई है। बीते अक्टूबर माह तक के आंकड़ों की बात करें तो हत्या प्रयास, लूट, डकैती, चोरी, अपहरण, महिला अपराध आदि वारदातों में इस वर्ष ग्राफ बढ़ा है। केवल हत्या की घटनाओं में वर्ष 2021 में कमी देखने को मिली है।

दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि राजधानी में इस वर्ष अपराध का बढ़ना तय था। इसके तीन प्रमुख कारण हैं। पहला कारण 2020 में अपराध का तेजी से घटना है। वर्ष 2020 में डेढ़ माह से ज्यादा समय तक बेहद सख्त लॉक डाउन लगा था। उस दौरान अपराधिक वारदातों में करीब 80 फीसदी तक की कमी आई थी, लेकिन इस वर्ष लॉक डाउन में काफी छूट थी। इसके चलते बीते वर्ष की तुलना में अपराध में बढ़ोतरी देखने को मिली। इस वर्ष लॉक डाउन के दौरान भी अपराध हो रहे थे। यही वजह है कि वर्ष 2020 के मुकाबले अधिकांश आपराधिक मामले बढ़े हैं।

अधिकारी के अनुसार, दूसरा बड़ा कारण कोविड-19 के चलते उत्पन्न हुई बेरोजगारी की समस्या है। पुलिस ने कई ऐसे लोगों को गिरफ्तार किया है जिन्होंने पहली अपराध किया था। अपराध का कारण अधिकांश लोगों ने कोविड में नौकरी का जाना बताया है।

ऐसे में घर चलाने के लिए वह चोरी या लूट जैसा अपराध करने लगे। तीसरा कारण जेल से छोड़े गए अपराधी हैं। वर्ष 2020 के अंत में और 2021 में जून-जुलाई के दौरान बड़ी संख्या में जेल से विचाराधीन कैदियों को छोड़ा गया था। बाहर आने के बाद इनमें से काफी बदमाश दोबारा वारदात करने लगे जिसके चलते इस वर्ष अपराध का आंकड़ा बढ़ा। अधिकारी की माने तो पुलिस को स्ट्रीट क्राइम (सड़क पर होने वाले अपराध) कम करने के लिए कड़े प्रयास करने चाहिए।

अपराध 2020 – 2021

हत्या प्रयास 480 – 640

लूट 1606 – 1829

झपटमारी 6318 – 7504

सेंधमारी 1698 – 2125

वाहन चोरी 28732 – 31374

अपहरण 3296 – 4609

घर में चोरी 1657 – 2040

हत्या 393 – 379

डकैती 8 – 20

फिरौती के लिए अपहरण 10- 15