Mon. Jul 6th, 2020

खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने लांच की नाडा की पहली मोबाइल ऐप


नई दिल्ली, 30 जून (हि.स.)। केंद्रीय युवा मामले और खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने मंगलवार को भारत की राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (नाडा) की पहली मोबाइल ऐप को लॉन्च किया, जिसका उद्देश्य एथलीटों और नाडा के बीच एक सेतु बनाना है।
यह ऐप खेल के विभिन्न पहलुओं पर आसानी से सुलभ जानकारी प्रदान करता है और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि यह एथलीटों को निषिद्ध पदार्थों के बारे में भी जानकारी देता है,जिनका अनजाने में उपयोग करने के कारण एथलीट का कैरियर बाधित हो सकता है।
रिजिजू ने नाडा को उनकी पहल के लिए बधाई दी और कहा कि यह स्वच्छ खेल का अभ्यास करने की दिशा में एक ‘बहुत महत्वपूर्ण’ कदम है।
रिजिजू ने एक बयान में कहा,”मैं नाडा को इस पहल के लिए बधाई देता हूं। यह भारतीय खेल के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण कदम है, क्योंकि हम स्वच्छ खेलों की दिशा में काम कर रहे हैं। इस दिशा में नाडा द्वारा उठाए गए पहले कदम का उद्देश्य एथलीटों में डोपिंग को लेकर जागरूकता पैदा करना और उन्हें सुलभ जानकारी प्रदान करना है ताकि वे जान सकें कि कौन सी दवा या पदार्थों का उपयोग उनके द्वारा नहीं किया जाना चाहिए।”
उन्होंने आगे कहा, “इस ऐप के साथ, एथलीट खुद निषिद्ध पदार्थों की सूची की जांच कर सकते हैं और सहायता के लिए किसी और पर निर्भर नहीं होंगे। मुझे यह भी खुशी है कि हमने अपने डिजिटल इंडिया के प्रधानमंत्री के सपने को पूरा करने के लिए एक और कदम उठाया है।”
इस ऐप में नाडा द्वारा निषिद्ध पदार्थों और दवाओं के बारे में पूर्ण जानकारी है,जिससे एथलीटों को चोटिल होने पर सही दवाओं का सेवन करने में मदद मिलेगी। खिलाड़ियों के डोप टेस्ट को जल्दी आयोजित करने के लिए भी ऐप मददगार साबित होगी। इसके माध्यम से डोपिंग अधिकारी अपनी उपलब्धता के बारे में बता सकेंगे। इस लॉन्चिंग इवेंट में खेल सचिव, रवि मिताल और नाडा के महानिदेशक, नवीन अग्रवाल ने हिस्सा लिया।