Sat. Jul 31st, 2021

गुजरात में ‘खेला होबे’ : मोदी-शाह के गढ़ में तृणमूल की आभासी एंट्री


 ममता बनर्जी के आभासी कार्यक्रम में अहमदाबाद के कार्यकर्ता शामिल, शहर में लगे बैनर पोस्टर



अहमदाबाद, 21 जुलाई (हि.स.)। गुजरात के नगर निगम चुनाव के दौरान आम आदमी पार्टी अपनी उपस्थिति दर्ज करा चुकी है। अब अगले विधानसभा चुनाव से पूर्व तृणमूल कांग्रेस भी गुजरात में दस्तक देने वाली है। आज तृणमूल ने पश्चिम बंगाल में आयोजित शहीद दिवस समारोह को अहमदाबाद में भी प्रसारित किया गया। इससे संकेत मिलता है कि तृणमूल राज्य के विधानसभा चुनाव में खेला होबे की धूम मचा सकती है।

दरअसल, वर्ष 1993 में 21 जुलाई के दिन पश्चिम बंगाल में पुलिस ने तृणमूल के कार्यकर्ताओं पर फायरिंग की थी। इस फायरिंग में 11 कार्यकर्ताओं की मौत के बाद हर वर्ष शहीद दिवस मनाया जाता है। इस साल कोरोना संकट के चलते मुख्यमंत्री ने आभासी माध्यम से इस आयोजन को संबोधित किया था लेकिन इस साल तृणमूल की गूंज देश के कई राज्यों में गूंजी।

बुधवार को अहमदाबाद के इसनपुर में एक रेस्तरां में प्रोजेक्टर पर कोलकाता से लाइव प्रसारण किया गया।गुजरात में पहली बार तृणमूल के इस कार्यक्रम से राजनीति गरमा गई है। इस मौके पर तृणमूल के गुजरात संयोजक जितेंद्रभाई ने कहा कि आज तृणमूल ने शहीद दिवस मनाया। पार्टी ने अभी 2022 के विधानसभा चुनाव के लिए कोई निर्देश नहीं दिया है। पार्टी की ओर से सदस्यता अभियान शुरू करने के निर्देश मिलने पर अधिक से अधिक सदस्य बनाने का प्रयास किया जाएगा।

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव जीतने के बाद अब ममता बनर्जी की नजर लोकसभा चुनाव पर है। वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए ममता बनर्जी ने भाजपा के विपक्षी दलों से एकजुट होने की अपील भी की है।