Mon. Aug 2nd, 2021

धार: करोड़ों का आसामी निकला नगर निगम का उपयंत्री डीके जैन


लोकायुक्त पुलिस के छापे में मिली अनुपातहीन संपत्ति



इंदौर, 17 जुलाई (हि.स.)। लोकायुक्त पुलिस ने शनिवार की अलसुबह धार नगर पालिका निगम में पदस्थ उपयंत्री डीके जैन के इंदौर और धार में एक साथ निवास पर छापा मारा प्रारंभिक जांच पड़ताल में करोड़ों की बेनामी संपत्ति का खुलासा हुआ है।

डीके जैन के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति की शिकायतें लोकायुक्त पुलिस को मिली थी। इन शिकायतों की जांच के बाद एसपी सव्यसाची सराफ के निर्देश पर उपयंत्री जैन के ठिकानों की जानकारी जुटाई गई और तीन डीएसपी की अलग-अलग टीमेें बनाई गई। इन तीनों टीमों में निरीक्षण स्तर के कर्मियों को शामिल किया गया और शनिवार सुबह योजना बनाकर एक साथ तीनों ठिकानों पर कार्रवाई की गई।

एसपी के निर्देश पर शनिवार अलसुबह डीएसपी संतोष सिंह भदोरिया के नेतृत्व में टीम ने डीके जैन के स्कीम नंबर 78 स्थित मकान पर पहुंची टीम को देख परिजन उस वक्त अचरज में पड़ गए जब टीम ने बताया कि वह लोकायुक्त से आए हैं। लोकायुक्त की टीम ने घर के दरवाजे बंद कर दिए और फोन और मोबाइल जब्त कर जांच पड़ताल शुरू की। बताया जाता है कि प्रारंभिक जांच में 45 ग्राम से अधिक सोने के आभूषण बिस्किट मकान दुकान और कृषि भूमि की 20 से अधिक रजिस्ट्री मिली है केंद्र सरकार की विभिन्न योजनाओं में किए गए निवेश की भी जानकारी मिली है।

डीएसपी भदोरिया के मुताबिक डीके जैन जिस बंगले में रहते हैं वहां आलीशान है और उसकी कीमत 1 करोड़ से अधिक की है उनकी नौकरी 40 साल की हो चुकी है और अगले साल रिटायर होने वाले हैं। उनका एक बेटा विवेक जैन प्रॉपर्टी ब्रोकर का काम करता है। उधर, डीएसपी संतोष सिंह भदौरिया और आनंद यादव की टीम ने धार में दो ठिकानों छापा मार कार्रवाई की। उनके यहां से मांडव और धार में जमीनों के दस्तावेजों के साथ कई रजिस्ट्री मिली है। धार में डीएसपी संतोष भदौरिया और इंदौर में प्रवीण बघेल की टीम जांच में जुटी हुई है। इसी प्रकार धार में भी लोकायुक्त की कार्रवाई जारी है प्रारंभिक जांच में पता चला है कि डीके जैन ने धार में भी बेनामी संपत्ति खरीदी है ।

राऊ में इकलौते इंजीनियर थे

पूर्व में राऊ में इंजीनियर रहे डीके जैन का धार नगर पालिका में तबादला हो गया था, राऊ में रहते हुए जैन पर भ्रष्टाचार के आरोप भी लगे थे, नक्शों से लेकर अन्य कामों व कालोनी हैंडओवर करने के मामले में भी सवालिया निशान लगे थे,राऊ में एकमात्र वही इंजीनियर थे,जबकि इस समय राऊ में तीन इंजीनियर है,ऐसे में उस दौर में उन्होंने राऊ से खूब मलाई छानी थी। भ्रष्टाचार से आय से अधिक संपत्ति खड़ी करने की शिकायत लोकायुक्त तक पहुंची,जिस पर लोकायुक्त ने आज सुबह डीके जैन के इंदौर स्थित 78 स्कीम निवास व धार के ठिकाने पर छापामार कार्रवाई शुरू की है। जैन सेवा निवृत्ति निकट है,ऐसे में कार्रवाई से दाग लगने जा रहा है। राऊ में रहते हुए जैन ने अपने बेटे की शादी नखराली ढाणी में धूमधाम से की थी।