Sat. Oct 16th, 2021

कपिल ने सुनाया कप्तान बिशन सिंह बेदी का किस्सा, बताया क्यों हुए थे गुस्सा


नई दिल्ली, 26 सितंबर (हि.स.) । भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान बिशन सिंह बेदी के 75 वें जन्मदिन के अवसर पर कपिल देव ने याद किया कि एक टेस्ट मैच के दौरान ‘नाइटवॉचमैन’ की भूमिका ठीक से नहीं निभाने के कारण बेदी उन पर गुस्सा हुए थे।

बिशन सिंह बेदी ने शनिवार को अपना 75वां जन्मदिन मनाया और इस दौरान कपिल देव, मदन लाल और अंशुमन गायकवाड़ जैसे पूर्व दिग्गज क्रिकेटरों ने भाग लिया।

इस दौरान कपिल देव ने किस्सा साझा करते हुए कहा कि कप्तान रहते हुए बिशन सिंह बेदी ने उन्हें बल्लेबाजी करने के लिए भेजा और नाइटवॉचमैन की भूमिका निभाने के लिए कहा। उन्होंने यह शब्द पहली बार सुना था और उन्हें नहीं पता था कि एक नाइटवॉचमैन क्या करता है। वह मैदान में उतरे और 16 गेंदों में लगभग 22 या 25 रन बनाकर आउट हो गए।

कपिल ने कहा कि वह बेहद खुश थे कि कप्तान उनके खेल की सराहना करेगा। लेकिन वह उन पर चिल्लाए और कहा कि तूम्हें नाइटवाचमैन का मतलब नहीं पता और तुम्हे गेंद को रोकना नहीं आता। उसके बाद बाकी सभी खिलाड़ी हंसने लगे।

जन्मदिन समारोह में बिशन सिंह बेदी अपने बेटे अंगद के साथ व्हीलचेयर से कार्यक्रम में पहुंचे। यहां कपिल देव ने बेदी का स्वागत किया और वहां से उन्हें मंच पर ले गए।

बिशन सिंह बेदी ने 1966 से 1979 तक भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट खेला। वह प्रसिद्ध भारतीय स्पिन चौकड़ी (बेदी, ईएएस प्रसन्ना, बीएस चंद्रशेखर और एस वेंकटराघवन) का हिस्सा थे। बेदी ने कुल 67 टेस्ट खेले और 266 विकेट लेने में सफल रहे। उन्होंने 22 टेस्ट मैचों में राष्ट्रीय टीम की कप्तानी भी की। उन्हें 1970 में पद्मश्री पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था।