Mon. Aug 2nd, 2021

यूरो कप फाइनल: इंग्लैंड को 3-2 से हराकर यूरो चैंपियन बना इटली


नई दिल्ली/लंदन, 12 जुलाई (हि.स.)। यूरोपियन फुटबॉल चैंपियनशिप (यूरो कप) 2020 के फाइनल मुकाबले में इटली ने पेनल्टी शूट-आउट में इंग्लैंड को 3-2 से हराकर चैंपियन का खिताब जीत लिया है।

फाइनल मुकाबला शुरू होते ही दूसरे मिनट में इंग्लैंड की तरफ से ट्रिप्पर के पास पर ल्यूक ने एक शानदार गोल दागा। इसके साथ ही इंग्लैंड ने 1-0 की बढ़त बना ली। मैच के पहले हाफ में खेल पर इंग्लैंड का दबदबा बना रहा। लेकिन, दूसरे हाफ में इटली की टीम आक्रामक हुई। इटली की तरफ से रक्षा पंक्ति के अनुभवी खिलाड़ी बानुची ने मैच के 67वें मिनट में गोल दाग कर अपनी टीम को बराबरी पर ला दिया।

इस गोल ने इटली के खिलाड़ियों में जोश भर दिया और टीम आक्रामक होकर खेलने लगी। दोनों टीमें पहले 90 मिनट के खेल में 1-1 गोल की बराबरी पर रहीं। इसके बाद 15-15 मिनट के अतिरिक्त समय में भी मैच का कोई परिणाम नहीं आया। हालांकि, दोनों टीमों के हाथ कुछेक नजदीकी अवसर आये, पर वह गोल में तब्दील नहीं हुए।

आखिरकार मैच का परिणाम पेनल्टी शूट-आउट पर आकर टिका। पेनल्टी शूट-आउट में इंग्लैंड का अपना पहला यूरो कप जीतने का सपना अधूरा रह गया और कप इटली के नाम रहा। पेनल्टी शूट-आउट में इटली ने इंग्लैंड को 3-2 से हराकर कप पर अपने नाम कर लिया।

इस तरह अपने आक्रामक खेल के लिए पहचानी जाने वाली इटली ने दूसरा यूरो कप खिताब जीत लिया है। इसने पहले 1968 में इटली ने यूरो कप का खिताब जीता था।

उल्लेखनीय है कि इटली ने सेमीफाइनल में भी स्पेन को पेनल्टी शूट-आउट में 4-2 से हराकर यूरो कप के फाइनल में प्रवेश किया था।

वहीं इंग्लैंड की टीम डेनमार्क को 2-1 से हराकर यूरो 2020 के फाइनल में पहुंची थी। इस जीत से इंग्लैंड टीम के प्रशंसकों ने काफी खुशियां मनायी थीं। वेम्बली में हुए सेमी-फाइनल को करीब साठ हजार दर्शकों ने देखा था। पहली बार इंग्लैंड की टीम यूरो कप के फाइनल में पहुंची थी।