Sat. Dec 4th, 2021

‘श्री रामायण यात्रा’ ट्रेन से कराएगी भगवान राम से जुड़े तीर्थ स्थलों के दर्शन


 आज रवाना होगी पहली ट्रेन, कम खर्च में यात्रियों को मिलेंगी तमाम सुविधाएं



नई दिल्ली, 07 नवम्बर (हि.स.)। भारतीय रेलवे खान-पान और पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) ने एक बार फिर भगवान राम से जुड़े तीर्थ स्थलों के दर्शन के लिए ‘श्री रामायण यात्रा’ ट्रेन का परिचालन शुरू कर दिया है। इसमें यात्री बेहद कम खर्च में अयोध्या से लेकर रामेश्वरम तक की सुगम यात्रा कर सकते हैं।

पूरी यात्रा 17 दिन की है। 16 रातों वाले इस टूर पैकेज में रहने के साथ खान-पान सहित अन्य सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं। ‘श्री रामायण यात्रा’ आईआरसीटीसी द्वारा चलायी जाने वाली पर्यटक ट्रेनों की सर्वाधिक लोकप्रिय यात्रा कार्यक्रम है।

रामायण सर्किट भारत सरकार की ‘स्वदेश दर्शन योजना’ के अंतर्गत चिन्हित थीम सर्किट में से एक महत्वपूर्ण सर्किट है। आईआरसीटीसी, कोरोना महामारी की धीरे-धीरे सामान्य हो रही परिस्थितियों को देखते हुए ‘श्री रामायण यात्रा’ के लिए आधुनिक साज-सज्जा से परिपूर्ण ‘देखो अपना देश’ डीलक्स एसी पर्यटक ट्रेन 7 नवम्बर को नई दिल्ली से रवाना हो रही है।

आईआरसीटीसी ने रविवार को कहा कि ट्रेन की सभी सीटें आरक्षित हो चुकी हैं। पर्यटकों की मांग को देखते हुए एक बार फिर 12 नवंबर से नई यात्रा की योजना बनाई जा रही है। इसके लिए आरक्षण शुरू हो गया है।

यह ट्रेन पर्यटकों को प्रभु श्रीराम से जुड़े सभी महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों जैसे कि अयोध्या, नंदीग्राम, जनकपुर, सीतामढ़ी, काशी, प्रयागराज, श्रृंगवेरपुर, चित्रकूट, नासिक, हम्पी और रामेश्वरम का भ्रमण एवं दर्शन कराएगी। इस यात्रा की सभी सीटें पर्यटकों द्वारा आरक्षित कराई जा चुकी हैं। इस ट्रेन में एसी प्रथम और द्वितीय श्रेणी की सीटें हैं एवं कुल 156 यात्रियों के पर्यटन करने की व्यवस्था है। पूरी यात्रा में मेहमान करीब 7,500 किलोमीटर का सफर तय करेंगे।

पर्यटकों की लगातार आ रही मांग पर आईआरसीटीसी द्वारा लोकप्रिय भारत दर्शन एवं आस्था सर्किट ट्रेन शुरू की गई है। इन ट्रेनों में स्लीपर और 3 एसी श्रेणी की सुविधा उपलब्ध होगी। इसका किराया 900 रुपये प्रतिदिन स्लीपर श्रेणी के लिए और 1500 रुपये प्रतिदिन 3 एसी श्रेणी के लिए निर्धारित किया गया है।

इन सभी पर्यटक ट्रेनों में यात्रियों को ट्रेन यात्रा के अतिरिक्त शाकाहारी भोजन, ठहरने की व्यवस्था, बसों द्वारा भ्रमण, टूर गाइड इत्यादि की सुविधा भी प्रदान की जाएगी।

यात्रियों की सुरक्षा के लिए इन ट्रेनों में कोरोना महामारी के बाद सुरक्षा उपायों को सुनिश्चित करने के लिए 18 वर्ष या उससे अधिक आयु वर्ग के मेहमानों के लिए टीकाकरण की खुराक अनिवार्य है। इसके अलावा, आईआरसीटीसी सभी पर्यटकों को फेस मास्क, हैंड ग्लव्स और सैनिटाइजर रखने के लिए एक सुरक्षा किट भी प्रदान करेगा।