Sat. Jul 31st, 2021

कानपुर में मिली आतंकियों की जानकारी, एटीएस के साथ चल रही गोपनीय जांच : असीम अरुण


 शहर के अलग-अलग जगहों से चार संदिग्धों को एटीएस द्वारा उठाये जाने की बात आ रही सामने



कानपुर, 12 जुलाई (हि.स.)। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से गिरफ्तार हुए अलकायदा के दो आतंकियों ने एटीएस को जानकारी दी कि कानपुर से कुछ लोग संपर्क में हैं। कानपुर का नाम आते ही हरकत में आई कमिश्नरेट पुलिस एटीएस के साथ गोपनीय जांंच शुरु कर दी है।

चार संदिग्धों को एटीएस ने उठाया

लखनऊ में पकड़े गये आतंकियों के तार जैसे ही कानपुर से जुड़े तो यहां पर भी एटीएस ने उनके बताये हुए स्थानों पर छापेमारी तेज कर दी है। यहां के बेकनगंज इलाके से दो लोगों को एटीएस ने उठाया है। साथ ही जाजमऊ से भी दो संदिग्धों को पकड़े जाने की बात सामने आ रही है। इस तरह से कुल चार संदिग्धों को उठाकर सोमवार को गहन पूछताछ एटीएस द्वारा की जा रही है।

हालांकि अभी इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है, पर जिन इलाकों से लोग उठाये गये हैं वहां के स्थानीय लोग दबी जुबां स्वीकार भी कर रहे हैं। इसके साथ ही जिन-जिन इलाकों में पुलिस और एटीएस छापेमारी कर रही है उन इलाकों में रहने वाले लोगों में भय साफ देखा जा रहा है। वहीं पुलिस आयुक्त असीम अरुण ने भी स्वीकार किया कि आतंकियों की जानकारी पर एटीएस के साथ गोपनीय जांच की जा रही है, जिसे शेयर नहीं किया जा सकता।

सूत्रों ने बताया कि आतंकियों ने मोबाइल फोन खरीदे थे जिसका संदिग्ध तरीके से प्रयोग कर रहे थे। पकड़े गए आतंकवादियों से पूछताछ में कानपुर में आतंकी संगठन के कई सक्रिय सदस्य मौजूद होने की बात सामने आई है, लिहाजा एटीएस ने कानपुर में कार्रवाई तेज कर दी है। अब तक मिल रही जानकारी के अनुसार एटीएस ने कानपुर के चमनगंज, जाजमऊ और बेकनगंज में छापेमारी की है। कानपुर पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने बताया कि एटीएस ने कुछ इनपुट दिए हैं, जो गोपनीय हैं, उस पर जांच की जा रही है।

कानपुर में जारी हुआ हाई अलर्ट

पुलिस कमिश्नर ने बताया जांच करने के साथ ही कानपुर शहर में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, बाजारों और भीड़भाड़ वाले स्थानों में पुलिस की सक्रियता को बढ़ा दिया गया है। शहर में जगह-जगह बैरिकेडिंग कर पुलिस जबरदस्त चेकिंग अभियान चला रही है। हर चौराहे पर हथियार बंद पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। कानपुर के अलावा प्रदेशभर के सभी संवेदनशील जिलों में पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है। प्रदेश के साथ ही दूसरे राज्यों में भी वहां की पुलिस को अलकायदा के संबंध में अलर्ट किया गया है।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश की राजधानी सहित अन्य शहरों में जब भी आतंकी पकड़े गये तो उनमें ज्यादातर में कानपुर का नाम सामने आया है। सूत्रों ने बताया कि रविवार को लखनऊ से गिरफ्तार हुए अलकायदा के आतंकी मिनहाज और मसीरुद्दीन ने एटीएस को पूछताछ में कानपुर के कुछ लोगों के नाम कबूल किये हैं। जिस पर लखनऊ एटीएस ने कानपुर पुलिस कमिश्नर असीम अरुण से कुछ इनपुट मांगकर उसकी जांच कराने की बात कही है।

पुलिस आयुक्त असीम अरुण ने बताया कि कानपुर में आतंकियों से जुड़ी जानकारी मिली है, जिस पर गोपनीय जांच की जा रही है, जांच पुख्ता होने पर शेयर किया जाएगा। फिलहाल पुलिस कमिश्नरेट में आलाधिकारियों को सख्त निर्देश दिये गये हैं कि मामले को लेकर पैनी नजर बनाये रखें।

अंसार गजवातुल हिंद से दोनों आतंकियों का संबंध

लखनऊ के काकोरी इलाके में हुई आतंकी मिनहाज और मसीरुद्दीन की गिरफ्तारी का संबंध अलकायदा के अंसार गजवातुल हिंद से बताया जा रहा है। आतंकियों के घर से हथियार भी बरामद हुए हैं और कुछ जले हुए दस्तावेज भी मिले हैं। यह आतंकी 15 अगस्त से पहले उत्तर प्रदेश में बड़ी आतंकी घटना करने की फिराक में थे।

छह जिलों में घटना करने की फिराक में थे आंतकी

सूत्रों ने बताया कि गिरफ्तार किए गए दोनों आतंकियों के पास से बड़ी तादाद में बम बनाने का समान भी बरामद किया गया है। जांच में ये भी खुलासा हुआ है कि ये आतंकी यूपी के छह जिलों में सीरियल ब्लास्ट करने की नापाक प्लानिंग कर रहे थे। ये आतंकी कई नेताओं को भी निशाना बनाने की फिराक में थे।