Sat. Sep 18th, 2021

मथुरा के गांव कोंह में अब तक बुखार से 11 की मौत, 73 मरीजों को चल रहा है उपचार


पं. दीनदयाल सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की प्रभारी डॉ. पारूल ने बताई स्थिति नियंत्रण में

 डॉ. भूदेव सिंह ने कहा, 26 मरीज स्क्रब टाइफस वायरल, 40 डेंगू और सात मलेरिया के



मथुरा, 01 सितम्बर (हि.स.)। उत्तर प्रदेश के कई जिलों में फ़ैल रहे वायरल फीवर की चपेट में मथुरा भी आ गया है। पं. दीनदयाल सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, फरह के अंतर्गत आने वाले कोंह गांव में अब तक तीन प्रकार के बुखार से आठ बालकों सहित 11 की मौत हो चुकी है जिसमें मंगलवार देर शाम 14 वर्षीय किशोर की आगरा में उपचार के दौरान मौत भी शामिल है। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की प्रभारी डॉ. पारूल मित्तल ने स्थिति को नियंत्रण में बताते हुए कहा है कि लखनऊ से आई टीम और फरह स्वास्थ्य टीम गांव में हर स्थिति पर नजर बनाए हुए है।

कोह निवासी 14 वर्षीय सौरभ को कई दिन पहले पूर्व डेंगू के चलते आगरा के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां मंगलवार रात उसकी मौत हो गई। अब तक प. दीनदयाल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र फरह क्षेत्र के इस गांव में एक महीने में फैले तीन प्रकार के बुखार से आठ बालकों सहित 11 की मौत हुई हैं। यह निष्कर्ष ग्रामीणों के ब्लड सैंपल की जांच रिपोर्ट से निकला है। हालांकि 26 मरीज अभी भी आगरा, फरह व मथुरा के अस्पतालों में भर्ती हैं।

डॉ. भूदेव सिंह को प्रभारी बनाया है। ग्रामीण तीन प्रकार के बुखार के मिले हैं। इनमें 26 मरीज स्क्रब टाइफस वायरल के निकले हैं जबकि 40 को डेंगू निकला है। 7 ग्रामीणों के सामान्य मलेरिया पाया गया है। प. दीन दयाल उपाध्याय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ. पारुल मित्तल ने बताया कि स्थिति नियंत्रण में है। फरह स्वास्थ्य केंद्र की टीम के अलावा लखनऊ से आयी टीम गांव में मौजूद है। शास्त्रीपुरम आगरा के केयर अस्पताल व जिला अस्पताल मथुरा में मरीज भर्ती हैं। चार मरीज प्राइवेट अस्पताल में भी है।

ग्राम कोंह के प्रधान हरेन्द्र सिंह ने बताया कि ग्राम पंचायत लगातार ही स्वास्थ्य विभाग को ब्लड सैंपल लिए जाने, सफाई व फोगिंग में सहयोग दे रही है। प्रधान ने बताया कि बीमार लोग अब ठीक होकर घर लौट रहे हैं। अगले 48 घंटे में अनेक ग्रामीण आगरा व मथुरा के अस्पतालों से घर आ जाएंगे। पिछले 24 घंटे में चार पांच ग्रामीण लौट आए हैं।