Tue. Sep 22nd, 2020

लीची जैसा दिखने वाला लौंगन प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में है सक्षम- लीची अनुसंधान केंद्र


मुजफ्फरपुर, 10 जुलाई (हि.स.) । जिले की धरती पर विकसित हुआ पौष्टिकता और पोषक तत्वों से भरपूर लीची परिवार का फल लौंगन । यह फल जुलाई के अंत तक पक कर तैयार हो जाता है इसके पोषक तत्व रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक होता है।
हॉर्टिकल्चर वैज्ञानिकों का कहना है कि पौष्टिकता के मामले में या लीची के समकक्ष है दक्षिणी चीनी मूल के इस फल पर एक दशक तक राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केंद्र मुसहरी मुजफ्फरपुर में शोध किया गया। बिहार की मिट्टी और जलवायु के अनुकूल विकसित कर 2017 में गंडकी लोंगन वन के नाम से रिलीज किया गया । वैज्ञानिकों का दावा है कि इस फल का उत्पादन चीन ,मलेशिया और थाईलैंड आदि देशों में होता है लेकिन मुजफ्फरपुर में विकसित वैरायटी सर्वोत्तम है । इसके पोषक तत्व शारीरिक कमजोरी की स्थिति में त्वरित ऊर्जा प्रदान करती है ।
लीची अनुसंधान केंद्र के निदेशक डॉ विशाल नाथ ने बताया कि यह काफी महत्वपूर्ण फल है इस फल में कार्बोहाइड्रेट,कैरोटीन, विटामिन के, प्रोटीन सहित कई पदार्थ काफी मात्रा में है यह सारे तत्व शरीर के अलग-अलग जरूरतों को पूरी कर देती है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है । साथ ही कहा कि अन्य देशों में इसे मेडिसिन प्रोसेस में भी शामिल किया गया है भारत में भी इसके लिए आईआईटी खड़कपुर में रिसर्च चल रहा है ।