Sun. Oct 17th, 2021

इग्नू ने ऑनलाइन कोर्स के लिए गुयाना ऑनलाइन एकेडमी ऑफ लर्निंग के साथ किया समझौता


नई दिल्ली, 2 अक्टूबर (हि.स.)। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) ने शनिवार को गुयाना ऑनलाइन एकेडमी ऑफ लर्निंग के साथ समझौता किया है। यह गुयाना के छात्रों को एकेडमी के माध्यम से विश्वविद्यालय के ओडीएल और ऑनलाइन कार्यक्रमों की पेशकश करने में सक्षम बनाएगा।

इग्नू के रजिस्ट्रार डॉ. वी.बी. नेगी और गुयाना ऑनलाइन एकेडमी ऑफ लर्निंग के निदेशक डॉ. जैकब ने समझौता ज्ञापर पर हस्ताक्षर किये। हस्ताक्षर समारोह ऑनलाइन माध्यम से आयोजित किया गया था। इसमें इग्नू के प्रो. नागेश्वर राव सहित दोनों संस्थाओं के प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे। गुयाना की लोक सेवा मंत्री सोनिया पराग भी हस्ताक्षर समारोह में उपस्थित थीं।

लोक सेवा मंत्री सोनिया पराग ने कहा कि समझौते के तहत इग्नू द्वारा संचालित ऑनलाइन माध्यम और ओडीएल मोड के माध्यम से 20 हजार शिक्षार्थियों को तृतीयक शिक्षा प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि यह राष्ट्रपति मोहम्मद इरफान अली के विजन को पूरा करता है। उन्होंने कहा कि शिक्षा सबसे मूल्यवान संपत्ति है तथा गुयाना को महान राष्ट्र के निर्माण के लिए नए मानव संसाधन और पूंजी की आवश्यकता है। उन्होंने अपने और राष्ट्र के लक्ष्यों को पूरा करने के लिए देश के गौरवान्वित सदस्य बनने के अपने प्रयास में छात्रों की सफलता की कामना की और सामग्री और सर्वोत्तम प्रथाओं के संदर्भ में समर्थन के माध्यम से तृतीयक शिक्षा में सहायता प्रदान करने के लिए इग्नू को भी धन्यवाद दिया।

प्रो. नागेश्वर राव ने कहा कि इग्नू में यह हमारे लिए एक महान क्षण है। उन्होंने कहा कि इससे इग्नू के अंतरराष्ट्रीय पदचिह्न का विस्तार करने में मदद मिलेगी। इग्नू की अनूठी शिक्षा शास्त्र और मिश्रित दृष्टिकोण के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय ओडीएल के साथ-साथ ऑनलाइन शिक्षा और शिक्षार्थियों की सहायता भी प्रदान कर सकता है जो सर्वोपरि है और इग्नू अपने भागीदारों को सभी प्रकार की सहायता प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने सभी शिक्षार्थियों को विश्वविद्यालय की ओर से पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया।

अध्यापन के बारे में विस्तार से बताते हुए उन्होंने कहा कि शिक्षा की इस विधा में एक अदृश्य शिक्षक ऑनलाइन और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से दिखाई देता है जो शिक्षार्थी को बेहतर अनुभव और बेहतर सीखने के लिए आकर्षक शिक्षा प्रदान करता है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय के पदाधिकारियों की इसे सफल बनाने में गहरी दिलचस्पी है।