Sun. Jan 23rd, 2022

आईसीसी हॉल ऑफ़ फ़ेम में शामिल हुए जेनेट ब्रिटिन, महेला जयवर्धने और शॉन पोलक


दुबई, 13 नवंबर (हि.स.)। आईसीसी मेन्स टी-20 विश्व कप 2021 के फाइनल से पहले, जेनेट ब्रिटिन, महेला जयवर्धने और शॉन पोलक को प्रतिष्ठित आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ़ फ़ेम में शामिल किया गया है। रविवार 14 नवंबर को न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में फाइनल मैच शुरू होने से पहले इन दिग्गजों को आईसीसी हॉल ऑफ फेमर, सर क्लाइव लॉयड द्वारा औपचारिक रूप से क्रिकेट हॉल ऑफ फ़ेम में शामिल किया जाएगा।

वर्ष 2009 में इसकी शुरुआत के बाद से 106 खिलाड़ियों को क्रिकेट हॉल ऑफ फ़ेम शामिल किया गया है।

इंग्लैंड की महिला क्रिकेटर जेनेट ब्रिटिन ने 19 साल की उम्र में अपना अपना अंतरराष्ट्रीय टेस्ट करियर शुरू किया था। उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ 1979 में टेस्ट करियर की शुरूआत की थी। ब्रिटिन ने 27 टेस्ट मैचों में 49.61 की औसत से 1935 रन बनाए हैं, जिसमें पांच शतक शामिल हैं। इसके अलावा उन्होंने 63 एकदिनी मैचों में 42.42 की औसत से पांच शतकों की बदौलत 2121 रन बनाए हैं। 2017 में केवल 58 वर्ष की उम्र में उनका निधन हो गया।

वहीं, श्रीलंकाई दिग्गज महेला जयवर्धने ने 1997 में अपना अंतरराष्ट्रीय टेस्ट पदार्पण किया। उन्होंने भारत के खिलाफ अपने पदार्पण टेस्ट में 66 रन बनाए थे। जयवर्धने ने श्रीलंका के लिए 149 टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 50.05 की औसत से 11,814 रन बनाए हैं। इसके अलावा उन्होंने 448 एकदिवसीय मैचों में 33.37 की औसत से 12650 रन व 55 टी-20 मैचों में 1493 रन बनाए हैं।

वहीं, दक्षिण अफ्रीका के हरफनमौला खिलाड़ी शॉन पोलक टेस्ट और एकदिवसीय क्रिकेट दोनों में 3,000 रन और 300 विकेट लेने वाले पहले खिलाड़ी हैं। पोलक ने 108 टेस्ट में 32.31 की औसत से 3,781 रन बनाए और 421 विकेट लिए हैं। इसके अलावा उन्होंने 303 एकदिनी में, 26.45 की औसत से 3,519 रन बनाए और 393 विकेट लिए हैं, जबकि 12 टी-20 मैचों में 86 रन बनाए हैं और 15 विकेट लिए हैं।