Sat. Dec 4th, 2021

वायुसेना का एमआई-17 हेलीकॉप्टर पूर्वी अरुणाचल प्रदेश में दुर्घटनाग्रस्त


दुर्घटना की जांच के लिए दिए जाएंगे कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश

 हेलीकॉप्टर के दोनों पायलट और चालक दल के 3 अन्य सदस्य सुरक्षित



नई दिल्ली, 18 नवम्बर (हि.स.)। भारतीय वायुसेना का एक एमआई-17 हेलीकॉप्टर गुरुवार को पूर्वी अरुणाचल प्रदेश में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हेलीकॉप्टर के दोनों पायलट और चालक दल के 3 अन्य सदस्य सुरक्षित हैं। दुर्घटना के समय हेलीकॉप्टर हवाई रखरखाव के लिए उड़ान भर रहा था। घटना के कारणों का पता लगाने के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश दिए जाएंगे।

पूर्वी अरुणाचल प्रदेश में गुरुवार को एयर फोर्स के एमआई-17 हेलीकॉप्टर की क्रैश लैंडिंग कराई गई। इस हेलिकॉप्टर में 2 पायलट और 3 क्रू मेंबर्स मौजूद थे। इस हादसे में किसी को कोई चोट नहीं पहुंची है और सभी सुरक्षित हैं। यह हेलीकॉप्टर लंबे समय से इस्तेमाल में नहीं था। गुरुवार को जब पायलट ने इससे उड़ान भरने की कोशिश की तो यह दुर्घटनाग्रस्त हो गया। वायुसेना सूत्रों का कहना है कि घटना के कारणों का अभी तक खुलासा नहीं हुआ है। हादसे के बाद कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश दिए जाएंगे।

इससे पहले 6 अक्टूबर 2017 को अरुणाचल प्रदेश में एमआई-17-वी5 हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हुआ था। इस हादसे में 7 जवान शहीद हुए थे। यह हेलीकॉप्टर भी अपने रूटीन मिशन पर उड़ान भर रहा था, जो वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास यांगस्ते पोस्ट से बहुत दूर ईंधन ड्रॉप कर रहा था। इसी तरह 3 अप्रैल 2018 को उत्तराखंड के केदारनाथ में सेना का एक एम-17 हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हुआ था जिसमें पायलट समेत चार लोग घायल हुए थे। जम्मू-कश्मीर के ऊधमपुर जिले में स्थित पटनीटॉप टूरिस्ट रिसोर्ट के निकट शिवगढ़ धार क्षेत्र में सितंबर में भी सेना का एक हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जिसमें दो पायलटों की मौत हो गयी थी।