Sat. Aug 8th, 2020

85 वर्ष के हुए धर्मगुरू दलाई लामा, कोरोना के चलते सादगी से मनाया जन्मदिन


कहा, अनुयायियों की प्रार्थना से 110 वर्षों तक रहूंगा जीवित



धर्मशाला, 06 जुलाई (हि.स.)। तिब्बती धर्मगुरू दलाईलामा सोमवार को 85 वर्ष के हो गए। कोरोना की बजह से इस बार उनका जन्मदिन मैकलोड़गंज स्थित उनके आधिकारिक आवास पर सादे तरीके से मनाया गया। इस मौके पर अपने अनुयायियों को एक संदेश में दलाईलामा ने कहा कि उनके अनुयायियों की प्रार्थना उन्हें 110 वर्षों तक जीवित रहने में मदद करेगी। वहीं अपने संदेश में दलाईलामा ने कहा कि आज 6 जुलाई है व मेरा जन्मदिन है। कोरोना महामारी के चलते इस बार बड़ी संख्या में लोगों के लिए समारोह आयोजित करना संभव नहीं था। बड़े कार्यक्रम का आयोजन जरूरी भी नहीं है। दलाईलामा ने वीडियो संदेश में अपने अनुयायियों से कई बातें सांझा की। उन्होंने अपने अनुयायियों से कहा कि हालांकि, अगर आप मेरा जन्मदिन मनाना चाहते हैं, तो मैं आपसे कम से कम एक हजार बार मणि मंत्र (ओम मणि पदमे हूं ) का पाठ करने के लिए कहना चाहता हूं।
वहीं, निर्वासित तिब्बत सरकार के मुख्यालय में प्रधानमंत्री डॉ लोबसांग सांगये की अध्यक्षता में संक्षिप्त कार्यक्रम आयोजित किया गया। तिब्बती समुदाय के लोगों ने इस बार अपने घरों में ही रहकर विशेष प्रार्थना करके धर्मगुरू दलाई लामा की दीर्घायु की कामना की।
उधर राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व सांसद किशन कपूर सहित कई नेताओं ने दलाईलामा के जन्मदिन पर उन्हें शुभकामनाएं दीं। अपने ट्वीट में मुख्यमंत्री जयराम ने लिखा-बौद्ध धर्मगुरु दलाईलामा को उनके जन्मदिन पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। प्रभु से कामना करता हूं कि आप स्वस्थ व दीर्घायु हों एवं मानवता के लिए ऐसे ही कार्य करते रहें। आपका आशीर्वाद एवं मार्गदर्शन हिमाचल को सदैव मिलता रहे।
गौर हो कि इससे पूर्व हर साल धर्मगुरू का जन्मदिन समारोह बड़े कार्यक्रम के साथ मनाया जाता था। उनके अनुयायी मैकलोड़गंज के मुख्य बौद्ध मठ चुगलाखंग में बड़ी संख्या में एकत्रित होकर पूजा अर्चना कर उनका आर्शीवाद लेते थे तथा उनके स्वस्थ जीवन और लंबी आयु की कामना करते थे। इस दौरान तिब्बती समुदाय के साथ ही विदेशी भी बड़ी संख्या में मैकलोड़गंज पंहुचते थे।