Mon. Nov 29th, 2021

आंध्र प्रदेश के चार जिलों में भारी बारिश का कहर, तीन की मौत


अमरावती, 19 नवंबर (हि.स.)। बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव का क्षेत्र बनने से आंध्र प्रदेश के कई तटीय जिलों में तेज बारिश हुई है। नेल्लूर, चित्तूर और कड़पा जिलों में भारी बारिश हो रही है। कई निचले इलाकों में बाढ़ जैसे हालात बने हुए है। कादिरी शहर में एक इमारत ढहने से तीन लोगों की मौत हुई है। राज्य सरकार ने मृतकों के आश्रितों के परिवार को पांच लाख का मुआवजा देने का ऐलान किया है।

भारी बारिश के चलते चित्तोर ज़िले के तिरुपति और तिरुमला में बाढ़ की गंभीर स्थिति बन रही है। जिला प्रशासन ने लोगों से अपने घरों में रहे और जरूरत पड़ने पर की बाहर निकलने की अपील की है। पहाड़ी पर स्थिति तिरुमला बालाजी मंदिर को जानी वाली सड़क को प्रशासन ने बंद कर दिया है और परिवहन निगम के बस को निरस्त कर दिया गया है। इस सड़क भारी भरकम चट्टानें गिरने से मार्ग बाधित हुआ है। प्रशासन इस सड़क से मलबा हटाने का कार्य चल रहा है। रात तक सड़क बहाल होने की उम्मीद है। मंदिर आने वाले और जाने वाले सभी वाहन फंस हुए हैं।

आंध्र प्रदेश के चार ज़िलों कड़पा, अनंतपुर, चित्तोर और नेल्लोर जिलों में भारी बारिश से कहर बरपा है। अनंतपुर जिले में भारी बारिश से नदी और नहर ऊफान पर हैं। कई निचले इलाकों में बाढ़ की हालत बनी हुई है। चित्रावती नदी में बाढ़ के चलते 10 लोग फंस गए थे। स्थानीय विधायक प्रकाश रेड्डी ने मुख्यमंत्री से हेलीकॉप्टर की मदद मांगी थी। अनंतपुर जिले के कलेक्टर के आग्रह पर फंसे 10 लोगों को बेंगलुरु से एनडीआरएफ ने हेलीकाप्टर के जरिए सुरक्षित निकाला गया। कर्नाटक में लगातार बारिश से चित्रावती नदी का पानी अनन्तपुर ज़िले के पुट्टपर्थी के निकट पुल के ऊपर से पानी बह रहा और इससे यातायात ठप है। कादिरी शहर में एक इमारत ढहने से तीन लोगों की मौत हुई है। राज्य सरकार ने मृतकों के आश्रितों के परिवार को पांच लाख का मुआवजा देने का ऐलान किया है।

बारिश और बाढ़ की हालतों की समीक्षा के लिए मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने आज सचिवालय में बैठक की। बैठक में जिलाधिकारियों को पीड़ितों के लिए पुनर्वास केंद्र स्थापित करने के साथ पुलिस व राजस्व विभाग को सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं।