Sun. Dec 5th, 2021

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने मध्य प्रदेश के टीकाकरण अभियान को सराहा


भोपाल, 11 नवम्बर (हि.स.)। मध्य प्रदेश में 10 नवम्बर को कोरोना टीकाकरण महाअभियान में देश में सर्वाधिक कोरोना वैक्सीन लगाये जाने पर केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने प्रसन्नता व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि राज्य शासन और नागरिकों के संयुक्त प्रयास से यह उपलब्धि हासिल की जा सकी है, जो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के जन-भागीदारी मॉडल की सफलता है।

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया गुरुवार को नई दिल्ली राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ हर घर अभियान व कोरोना की रोकथाम को लेकर चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कोरोना टीकाकरण के लिए लोगों को प्रेरित करने के उद्देश्य से मध्यप्रदेश में चलाए गए रोको-टोको अभियान जैसे नवाचार की भी तारीफ की।

केन्द्रीय मंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से देश के सभी प्रांतों के स्वास्थ्य मंत्री, मिशन संचालक और राज्य टीकाकरण अधिकारियों की बैठक में मध्यप्रदेश में टीकाकरण दर में वृद्धि और जन-जागरुकता अभियानों की सराहना करते हुए ऐसे ही प्रयास अन्य प्रांतों को अपनाने के लिए भी कहा।

प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने राज्य शासन की ओर से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री मांडविया को धन्यवाद दिया, जिनके द्वारा प्रदेश को समय पर दी गई कोरोना की मुफ्त वैक्सीन का तीव्र गति से उपयोग कर कोरोना वैक्सीन की प्रथम डोज 91 प्रतिशत और द्वितीय डोज 43 प्रतिशत पात्र नागरिकों को लगायी जा चुकी है। प्रदेश में 10 नवम्बर को 13 लाख 52 हजार से अधिक टीके लगाये गये, जो कि देश में हुए कोविड टीकाकरण में सर्वाधिक हैं।

एनएएम संचालक(टीकाकरण) डॉ. संतोष शुक्ला ने बताया कि स्कूल, महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं, स्व-सहायता समूह, क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी, जन-प्रतिनिधि और समाज के हर वर्ग के सक्रिय सहयोग तथा अंतर्विभागीय समन्वय से जन-भागीदारी मॉड्यूल तैयार किया गया है। प्रदेश में शासन और जन-भागीदारी से शत-प्रतिशत टीकाकरण के प्रयास किए जा रहे हैं। कोरोना टीके की प्रथम तथा द्वितीय डोज के लिए शेष रह गये नागरिकों का शत-प्रतिशत टीकाकरण 25 दिसम्बर, 2021 तक पूर्ण कर लिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि कोरोना टीकाकरण में कम उपलब्धि वाले जिलों और विकासखण्डों को चिन्हित किया गया है। उन जिलों में विशेष प्रयास कर हर घर में दस्तक अभियान चलाया जा रहा है। रोको-टोको अभियान में उचित मूल्य दुकानों, सब्जी मण्डी, बैंक और सार्वजनिक स्थलों आदि पर कोरोना टीकाकरण के लिए जन-जागरूकता बढ़ाई जा रही है। दो प्रकार के दलों का गठन भी किया गया है। पहला दल मोबिलाइजर है और दूसरा दल वैक्सीनेटर है। इन प्रयासों के अच्छे परिणाम आ रहे हैं।