Wed. Sep 22nd, 2021

पंचकूला: बिहार के बाद अब एमपी के एडीजीपी डायल 112 के हुए मुरीद, पहुंचे पंचकूला


पंचकूला, 13 सितंबर (हि.स.)। हरियाणा पुलिस का डायल 112 ईआरएसएस देश में रोल मॉडल बनता जा रहा है। हरियाणा 112 की कार्यप्रणाली को समझने के लिए प्रदेश के अन्य राज्यों से वरिष्ठ पुलिस अधिकारी इमरजेंसी रिस्पांस र्स्पोट सिस्टम (ईआरएसएस) का अध्ययन करने के लिए हरियाणा 112 परियोजना का दौरा कर रहे हैं। इसी कडी में सोमवार को मध्यप्रदेश के एडीजीपी एसके झा ने भी हरियाणा 112 की कार्यशैली को जानने के लिए प्रदेश का दौरा किया। इससे पहले बिहार पुलिस के अधिकारियों ने भी ईआरएसएस को समझने के लिए दौरा किया था।

हरियाणा पुलिस द्वारा नागरिकों को चौबिसों घंटे कम से कम समय में पुलिस सहायता पहुंचाने के उद्देश्य से शुरू की गई ऐतिहासिक पहल हरियाणा 112 ने थोडे़ ही समय में आम लोगों के बीच अपनी अलग पहचान बनाई है। एसके झा ने पुलिस मुख्यालय पहुंच कर हरियाणा के पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार अग्रवाल से शिष्टाचार भेंट की। एडीजीपी दूरसंचार और आईटी हरियाणा एएस चावला, एडीजीपी (लॉ एंड आॅर्डर) हरियाणा नवदीप सिंह विर्क, एसपी ईआरएसएस उदय सिंह मीणा भी उपस्थित थे।

इस अवसर पर डीजीपी अग्रवाल ने एसके झा को अवगत कराया कि राज्य सरकार के सहयोग से शुरू की गई हरियाणा 112 सेवा का मुख्य उद्देश्य प्रदेश में कहीं भी 24 घंटे बिना किसी देरी के जरूरतमंदों को सुरक्षा और आपातकालीन सेवाएं प्रदान करना है। 600 से अधिक इआरवी वाहनों के माध्यम से इसे संचालित किया जा रहा है। एसके झा ने पंचकुला स्थित स्टेट इमरजेंसी रिस्पांस सेंटर का दौरा कर हरियाणा 112 की कार्य प्रणाली के बारे में जानकारी हासिल करते हुए इसके सफल कार्यान्वयन की भी सराहना की। इस दौरान चावला, जो हरियाणा 112 परियोजना के नोडल अधिकारी भी हैं, ने विस्तार से 112 परियोजना की कार्यप्रणाली के बारे में उन्हें अवगत कराया। हाल ही में बिहार पुलिस से भी सात सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने इस परियोजना का दौरा कर सराहना की है।