Sat. Sep 18th, 2021

धनबाद: यहां चलता है माफिया राज!


धनबाद, 29 जुलाई (हि.स.)। माफिया नगरी के रूप में विख्यात धनबाद कोयलांचल में बुधवार को हुई एक न्यायाधीश की हत्या ने एक बार पुनः साबित कर दिया है कि धनबाद वास्तव में माफियाओं की नगरी है। यहां के माफिया जब चाहें, किसी की भी सरेआम हत्या करवा सकते हैं।

बदमाशों ने इस बार वारदात करने के लिए नायाब तरीके का इस्तेमाल किया। भारी भरकम महंगी गाड़ी के बजाय ऑटो रिक्शा का इस्तेमाल किया गया। वह भी चोरी के ऑटो रिक्शा से जज की हत्या की गई। इसके जरिए इसे महज सड़क दुर्घटना प्रमाणित करने का प्रयास किया लेकिन सीसीटीवी में कैद तस्वीर ने उनकी योजना पर पानी फेर दिया।

जिस ऑटो रिक्शा से न्यायाधीश की हत्या हुई है। उस ऑटो का मालिक धनबाद के पाथरडीह में रहता है। ऑटो मालिक रामदेव लोहार ने बताया कि मंगलवार की रात उसके घर के सामने से ही ऑटो रिक्शा की चोरी हो गयी थी। बुधवार के दिन इसकी सूचना उसने स्थानीय पुलिस को दे दी थी।

न्यायाधीश की हत्या के बाद बदमाश ऑटो रिक्शा सहित पड़ोसी जिला गिरिडीह चले गए थे। धनबाद पुलिस ने गिरिडीह से ऑटो रिक्शा को जब्त किया। बताया जा रहा है कि पुलिस ने चोरी हुए ऑटो चालक गोपाल सहित तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। हालांकि, अभी तक इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी है।

धनबाद के जिला एवं सत्र न्यायाधीश (अष्टम) उत्तम आनंद की अदालत में कोयलांचल के चर्चित रंजय सिंह हत्या कांड की सुनवाई चल रही थी। रंजय धनबाद के चर्चित सिंह मेंशन घराना का करीबी था। जांच के दौरान पुलिस ने सिंह मेंशन के घोर विरोधी रघुकुल घराना की झरिया से कांग्रेस विधायक पूर्णिमा सिंह के मौसेरा देवर हर्ष सिंह को अप्राथमिकी अभियुक्त बनाया था।

हर्ष सिंह फिलहाल जमानत पर बाहर है। इसके अलावा कोयलांचल में तेजी से उभर रहे रंगदार अमन सिंह के गुर्गों का हाल ही में इस अदालत ने जमानत अर्जी खारिज कर दिया था। कोयलांचल क्षेत्र के डीआईजी मयूर पटेल ने कहा कि पुलिस की अलग अलग टीम हर बिंदुओं पर जांच कर रही हैं।

उल्लेखनीय है कि बुधवार सुबह 5:08 बजे न्यायाधीश उत्तम आनंद को टक्कर मार दी गई। वह माॅर्निंग वाॅक पर निकले थे। घर से कुछ दूर पर ही वे खून से लथपथ मिले थे। करीब डेढ़ घंटे के बाद कुछ युवकों ने उन्हें एसएनएमएमसीएच पहुंचाया था। इमरजेंसी में घंटे भर इलाज के बाद उन्हें सर्जिकल आईसीयू में भर्ती किया गया और सुबह 9:30 बजे उनकी माैत हाे गई थी। इसके बाद पुलिस को एक सीसीटीवी फुटेज हाथ लगी और सूई हत्या की तरफ घूम गई।