Tue. Nov 30th, 2021

दरंग हिंसा : मुख्यमंत्री ने दिया न्यायिक जांच का आदेश


11 घायलों का जीएमसीएच में चल रहा इलाज

 कांग्रेस ने जिलाधिकारी के जरिए राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन



गुवाहाटी, 24 सितम्बर (हि.स.)। दरंग जिला के सिपाझार के धलपुर में गुरुवार को हुई हिंसा में घायल हुए तीन पुलिसकर्मियों सहित कुल 11 लोगों का फिलहाल गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में इलाज चल रहा है। हादसे में घायल आठ आम नागरिकों का भी जीएमसीएच में इलाज चल रहा है।

मुख्यमंत्री डॉ हिमंत बिस्व सरमा ने घटना की गंभीरता को देखते हुए मामले की न्यायिक जांच का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि प्रशासन अपना काम करता रहेगा। साथ ही अतिक्रमण अभियान को भी जारी रखने की बात कही है।

जीएमसीएच में चिकित्साधीन पुलिसकर्मियों में अमृत राय चौधरी, अपूर्व राहांग और मुनीर अहमद शामिल हैं। मुनीर अहमद की स्थिति गंभीर बनी हुई है। हालांकि, जीएमसीएच के अधीक्षक ने कहा कि कोई चिंता की बात नहीं है।

दूसरी ओर इलाजरत आठ आम लोगों में से एक 13 साल का किशोर भी शामिल है। घायलों में दो लोगों को गोलियां लगी हैं। दोनों की हालत स्थिर है और कोई चिंता की बात नहीं है। घायल रेजिया खातून के पेट में गोली लगी है लेकिन चिंता की कोई बात नहीं है।

जीएमसीएच के सुपरिटेंडेंट अभिजीत शर्मा ने कहा है कि अभी सर्जरी की जरूरत नहीं है। उन्होंने यह भी बताया कि घायलों में से तीन का हड्डी रोग विभाग में और पांच का सर्जरी विभाग में इलाज चल रहा है।

उल्लेखनीय है कि अतिक्रमण हटाने गयी पुलिस एवं प्रशासन की टीम पर हजारों लोगों ने लाठी, डंडे, पत्थर, ईंट आदि से हमला किया था। उपद्रवियों को काबू में करने के लिए पुलिस ने लाठी चार्ज और हवाई फायरिंग की थी। घटना में दो उपद्रवियों की मौत हो गयी, जबकि नौ पुलिसकर्मी भी गंभीर रूप से घायल हुए हैं।

एक अनुमान के अनुसार पुलिस के अभियान के दौरान 600 से अधिक अतिक्रमणकारी परिवारों को हटाया गया है।

इलाके में शुक्रवार को भी तनाव बना हुआ है। घटना को लेकर दरंग जिला में आम्सू, अल्पसंख्यक संग्राम परिषद, इत्तेहाद फ्रंट, नेम्सू, मुस्लिम छात्र संस्था, जमीयत उलेमा-ए हिंद के द्वारा 12 घंटे के बंद का आह्वान किया गया है।

असम कांग्रेस ने जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन

इस बीच असम प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेन बोरा, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष देवब्रत सैकिया समेत अन्य नेता शुक्रवार को जिला मुख्यालय मंगलदै पहुंचकर घटना का विरोध करते हुए जिला उपायुक्त के जरिए राज्यपाल को एक ज्ञापन सौंपा। इस घटना के लिए दोषियों को दंडित करने, इलाके से हटाए गये लोगों का पुनर्वास करने, पीड़ितों को मुआवजा देने की मांग की है। एआईयूडीएफ के द्वारा भी बरपेटा समेत अन्य जिलों में विरोध प्रदर्शन के कार्यक्रम आयोजित किये गये हैं।

कैमरामैन विजय बनिया गिरफ्तार

अतिक्रमण अभियान के दौरान गंभीर रूप से घायल जमीन पर पड़े एक व्यक्ति पर हमला करने के आरोप में पुलिस ने विजय बनिया नामक एक फोटोग्राफर को गिरफ्तार किया है। असम पुलिस के स्पेशल डीजीपी जीपी सिंह ने इसकी जानकारी ट्वीट कर दी है। उन्होंने कहा है कि सोशल मीडिया में वायरल वीडियो के बाद दरंग पुलिस ने एक प्राथमिकी दर्ज कर आरोपित विजय बनिया को गिरफ्तार कर लिया है। फिलहाल विजय बनिया सीआईडी के जिम्मे में है। गिरफ्तार आरोपित से सीआईडी की टीम पूछताछ कर रही है।