Mon. Aug 2nd, 2021

देश में पहली बार यूट्यूब पर कोर्ट की कार्यवाही लाइव प्रसारित करने वाला बना गुजरात हाई कोर्ट


 फिजिकल कोर्ट शुरू होने पर भी जारी रहेगी लाइव स्ट्रीमिंग : हाई कोर्ट रजिस्ट्रार



अहमदाबाद, 19 जुलाई (हि.स.)। गुजरात हाई कोर्ट देश का पहला ऐसा कोर्ट हो गया है, जहां से न्यायिक कार्यवाही का सीधा प्रसारण यूट्यूब चैनल पर किया गया है। सोमवार को गुजरात हाई कोर्ट के 18 न्यायालय कक्षों की कार्यवाही का सीधा प्रसारण यूट्यूब चैनल पर किया गया। कोरोना संकट के बीच उपजी परिस्थितियों के बीच न्यायिक कार्यवाही के लाइव प्रसारण से न्यायपालिका पर लोगों का विश्वास और बढ़ेगा।

दरअसल, न्यायालय कक्ष से कार्यवाही के लाइव प्रसारण का उद्घाटन भारत के मुख्य न्यायाधीश एनवी रमन्ना ने एक दिन पहले किया था। इस दौरान जस्टिस रमन्ना ने कहा था कि इन सभी अदालतों के लाइव प्रसारण से न्यायपालिका पर लोगों का विश्वास मजबूत होगा और पारदर्शिता भी बनी रहेगी। सोमवार से गुजरात हाई कोर्ट की न्यायालय कक्ष की कार्यवाही का यूट्यूब पर सीधा प्रसारण किया गया। इस संबंध में गुजरात हाई कोर्ट के रजिस्ट्रार अशोक उकरानी ने एक बयान जारी कर कहा कि 26 अक्टूबर, 2020 के बाद पहली अदालती कार्यवाही ऑनलाइन उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि 2018 में सुप्रीम कोर्ट ने ओपन कोर्ट के लिए स्वप्निल त्रिपाठी बनाम सुप्रीम कोर्ट के पक्ष में फैसला सुनाया था। इसके बाद अब गुजरात हाई कोर्ट देश का पहला हाई कोर्ट बन गया, जिसने आज मुख्य न्यायाधीश विक्रम नाथ की पीठ का सीधा प्रसारण किया है। उन्होंने कहा कि फिजिकल कोर्ट शुरू होने पर भी लाइव स्ट्रीमिंग जारी रहेगी। नागरिक न्यायालय की सभी कार्यवाही, तर्क और निर्णय घर बैठे देख व सुन सकेंगे।

हाई कोर्ट के 18 कोर्ट रूम की लाइव स्ट्रीमिंग के दौरान आज 80 से 90 लोगों ने एक-एक कोर्ट रूम की लाइव कार्यवाही देखी।

उल्लेखनीय है कि गुजरात हाई कोर्ट कक्षों से सुनवाई का सीधा प्रसारण करने वाला देश का पहला हाई कोर्ट बन गया है। इससे पहले 26 अक्टूबर, 2020 को गुजरात हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश की पीठ की कार्यवाही का यूट्यूब चैनल के माध्यम से सीधा प्रसारण शुरू हुआ था। इसके बाद 17 जुलाई 2021 को भारत के मुख्य न्यायाधीश एनवी रमन्ना ने गुजरात हाई कोर्ट का नया फैसला वीआर के वर्चुअल माध्यम से लॉन्च किया था।