Fri. Dec 3rd, 2021

कोरोना संक्रमित होने पर भारतीय मूल के मलेशियाई युवक की मौत की सजा टली


सिंगापुर, 10 नवंबर (हि.स.)। भारतीय मूल के मलेशियाई युवक को मिली मौत का सजा उस समय टल गई जब उसके कोरोना संक्रमित होने का पता चला। सिंगापुर में कोरोना संक्रमित मिलने के बाद एक युवक की फांसी की सजा स्थगित कर दी गई है।

जानकारी के अनुसार सिंगापुर की चांगी जेल में कैद नागेथरन के. धर्मलिंगम को बुधवार को ड्रग्स की तस्करी का दोषी पाए जाने पर सजा-ए-मौत दी जाने वाली थी। लेकिन नियमित स्वास्थ्य जांच के दौरान उन्हें कोरोना से संक्रमित पाया गया है।

सिंगापुर हाई कोर्ट ने विगत सोमवार को आनलाइन सुनवाई के दौरान मौत की सजा को उनके स्वस्थ होने तक स्थगित कर दिया है। जस्टिस एंड्रयू फांग, जूडिथ प्रकाश और कन्नन रमेश की खंडपीठ ने कहा कि यह अप्रत्याशित था। उन्होंने अगली तारीख तक के लिए सुनवाई स्थगित कर दी है। सुनवाई की अगली तारीख अभी तय नहीं है।

उल्लेखनीय है कि नागेथरन को सिंगापुर में 2009 में 42.72 ग्राम हेरोइन की तस्करी के लिए वर्ष 2010 में मौत की सजा सुनाई गई थी। वर्ष 2011 में इसके खिलाफ वह हाई कोर्ट में अपील करने में नाकाम रहे। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट में यह मामला 2019 में पहुंचा और सिंगापुर के राष्ट्रपति से माफी के लिए भी अपील की गई थी।