Mon. Nov 29th, 2021

01 नवंबर इतिहास के पन्नों में


मानस मर्मज्ञ का जन्मः जाने-माने रामायण कथा वाचक रामकिंकर उपाध्याय का जन्म 01 नवंबर, 1924 को मध्य प्रदेश के जबलपुर में हुआ। भगवान श्रीराम और रामायण में गहरी आस्था रखने वाले परिवार में पैदा हुए रामकिंकर उपाध्याय बचपन से ही गंभीर प्रवृत्ति के मेधावी छात्र थे। उनकी शिक्षा- दीक्षा पहले जबलपुर और आगे चलकर काशी में हुई। उनके पूर्वज उत्तर प्रदेश के बरैनी गांव के थे।

रामकिंकर उपाध्याय ने 19 साल की उम्र में लेखन शुरू कर दिया। उनपर भगवान राम का ऐसा प्रभाव था कि आगे चलकर रामायण कथा वाचक बन गए। रामायण की उनकी मीमांसा अद्वितीय है। अपने 78 वर्षों के जीवनकाल में उन्होंने 92 पुस्तकों की रचना की, जिनमें मुख्य रूप से रामचरितमानस और रामकथा से ही संबंधित पुस्तकें हैं। साल 1999 में उन्हें पद्म भूषण सम्मान मिला। वर्ष 2002में 09 अगस्त को मानस मर्मज्ञ रामकिंकर उपाध्याय का निधन हो गया।

अन्य अहम घटनाएंः

1956ः कर्नाटक राज्य की स्थापना।

1956ः मध्य प्रदेश राज्य का गठन।

1956ः राजधानी दिल्ली केंद्र शासित राज्य बना।

1956ः केरल राज्य की स्थापना।

1956ः आंध्र प्रदेश राज्य की स्थापना।

1966: हरियाणा राज्य की स्थापना।

1973ः मैसूर का नाम बदलकर कर्नाटक किया गया।

1973ः फिल्म अभिनेत्री ऐश्वर्या राय का जन्म।

1984ः तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद देश में सिख विरोधी दंगे भड़के।

2002ः छत्तीसगढ़ राज्य का गठन।