Sat. Jul 31st, 2021

डॉ सरमा ने किया मुख्यमंत्री कोविड-19 विधवा सहायता योजना का शुभारंभ


योजना के जरिए निम्न आय वर्ग की विधवाओं को आर्थिक सुरक्षा प्रदान करने का प्रयास : सीएम



गुवाहाटी, 11 जुलाई (हि.स.)। कोरोना महामारी में अपने पतियों को खोने वाली सभी विधवाओं को सामाजिक और वित्तीय सुरक्षा प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री डॉ हिमंत बिस्व सरमा ने रविवार को गुवाहाटी के पांजाबारी स्थित श्रीमंत शंकरदेव के अंतरराष्ट्रीय प्रेक्षागृह में आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री कोविड-19 विधवा सहायता योजना का शुभारंभ किया।

इस योजना के तहत एकमुश्त वित्तीय सहायता के रूप में 2.5 लाख रुपये ऐसी महिलाओं को को दिए जाएंगे जिन्होंने कोरोना के कारण अपने पति को खो दिया है। योजना के लिए पात्रता का दावा करने के लिए लाभार्थी के पति की मृत्यु कोरोना से होनी चाहिए और लाभार्थी की वार्षिक आय पांच लाख रुपये से कम होनी चाहिए।

मुख्यमंत्री डॉ सरमा ने योजना का शुभारंभ करते हुए 2.5 लाख रुपये के चेक आठ जिलों के कुल 176 लाभार्थियों को प्रदान किया जिसमें कामरूप (मेट्रो), नलबारी, दरांग, बाक्सा, मोरीगांव, नगांव, ग्वालपारा और कामरूप (ग्रामीण) जिले शामिल हैं। इस योजना के तहत अब तक कुल 883 लाभार्थी पात्र हो गए हैं। शेष लाभार्थियों को चेक संबंधित जिलों के अभिभावक मंत्री प्रदान करेंगे।

इस अवसर पर बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, हम सभी यहां इकट्ठे हुए हैं, यह खुशी की बात नहीं है, क्योंकि सरकार भी उतनी ही दुखी है जितना दुखी अपने पतियों को खोने वाली विधवाएं हैं। अपनों को खोना हमेशा दुखदायी होता है। हालांकि, हमारी सरकार ने इस कठिन समय में थोड़ा सा वित्तीय समर्थन देते हुए मृतक के परिवार के सदस्यों की पीड़ा को कम करने का फैसला किया है। डॉ सरमा ने कहा कि यह योजना लाभार्थियों को आर्थिक कठिनाई के बावजूद सम्मान का जीवन जीने में मदद करने के लिए शुरू की गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि असम ने भी कोरोना महामारी का दंश झेला है, लेकिन सरकार अपने कर्मचारियों और सामग्रियों के साथ प्रभावित लोगों की हर संभव मदद करने की पूरी कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार पहले ही उन बच्चों के शैक्षणिक भविष्य को सुरक्षित करने के लिए शिशु सेवा योजना शुरू कर चुकी है, जिन्होंने अपने माता-पिता दोनों को कोरोना महामारी के दौरान खो दिया है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के अन्य पीड़ितों की मदद करने के लिए सरकार बजटीय सहायता भी बना रही है। उन्होंने वित्त मंत्री अजंता नेउग को इस उद्देश्य के लिए धन का बड़ा आवंटन करने के लिए कहा है।

इससे पहले स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री केशव महंत ने इस अवसर पर बोलते हुए कोरोना महामारी को नियंत्रित करने के लिए राज्य सरकार की कार्रवाई का लेखा-जोखा प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के सहयोग से राज्य सरकार ने महामारी के प्रसार को नियंत्रित किया है, फिर भी स्वास्थ्य विभाग राज्य को महामारी से उबारने के लिए अथक प्रयास कर रहा है।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री कोविड-19 विधवा सहायता योजना के अलावा, अरुणोदय योजना के तहत प्रति माह विधवाओं को इंदिरा मिरी यूनिवर्सल विधवा पेंशन योजना के तहत भी आर्थिक सहायता मुहैया करायी जा रही है।

इस मौके पर राज्य के खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामलों के मंत्री रंजीत कुमार दास, परिवहन मंत्री चंद्र मोहन पटवारी, पर्यावरण और वन मंत्री परिमल शुक्लाबैद्य, हथकरघा और कपड़ा मंत्री यूजी ब्रह्म, कृषि मंत्री अतुल बोरा, सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री पीयूष हजारिका, शिक्षा मंत्री डॉ रानुज पेगू, मुख्यमंत्री के राजनीतिक सचिव जयंत मल्ला बरुवा, अभिभावक मंत्री, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव समीर कुमार सिन्हा और सम्मानित व्यक्ति उपस्थित थे।