Sat. Jul 31st, 2021

एलएसी पर बदला चीनी कमांडर, भारत की नजरें हुईं और पैनी


चीन ने जमीनी बलों के कमांडर जू किलिंग को पूर्ण जनरल के रूप में पदोन्नत किया

 भारत को चीन के साथ 12वें दौर की सैन्य वार्ता के लिए तारीख तय होने का इन्तजार



नई दिल्ली, 08 जुलाई (हि.स.)। पूर्वी लद्दाख की भारतीय सीमा के लिए चीन की ओर से कमांडर बदले जाने के बाद से भारत की नजरें और पैनी हो गईं हैं। चीन ने एक साल से भारत के साथ सैन्य टकराव के बीच पश्चिमी थियेटर कमांड में जमीनी बलों के कमांडर जू किलिंग को पूर्ण जनरल के रूप में पदोन्नत किया है। चीन ने सात माह के भीतर एलएसी पर अपना कमांडर बदला है जब भारत को 12वें दौर की सैन्य वार्ता के लिए तारीख तय होने का इन्तजार है।

भारत से चीन की 11वें दौर की सैन्य वार्ता 09 अप्रैल को 13 घंटे चली थी लेकिन इसमें एलएसी के साथ गोगरा, डेप्सांग और हॉट स्प्रिंग क्षेत्रों से विस्थापन प्रक्रिया पर फिलहाल कोई सहमति नहीं बन पाई। इसके बावजूद दोनों पक्ष मौजूदा समझौतों और प्रोटोकॉल के अनुसार अनसुलझे मुद्दों को तेजी से सुलझाने और किसी भी तरह की नई घटनाओं से बचने पर सहमत हुए थे। सैन्य कमांडर स्तरीय वार्ता के दौरान दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हुए कि थे कि दोनों देशों के नेताओं के बीच बनी सहमति के अनुसार बातचीत जारी रखी जाए, ताकि बाकी बचे मुद्दों का जल्द ऐसा हल निकाला जा सके जो एक दूसरे को स्वीकार्य हो। इस सबके बावजूद तीन माह बीत जाने के बाद भी 12वें दौर की वार्ता के लिए चीन की ओर से तारीख तय नहीं की जा सकी है।

अभी तक चीन की ओर से पश्चिमी थियेटर कमांड (डब्ल्यूटीसी) की जिम्मेदारी जनरल झांग जुडोंग संभाल रहे थे और 11वें दौर की वार्ता में चीनी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व उन्होंने ही किया था। 59 वर्षीय झांग ने पिछले साल दिसम्बर में जनरल झाओ ज़ोंगकी से डब्ल्यूटीसी प्रमुख के रूप में पदभार संभाला था, जो 65 वर्ष की आयु में सेवानिवृत्त हुए थे। पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) में इस रैंक पर किसी को भी सात महीने के भीतर न हटाए जाने का प्रावधान है। इसके बावजूद असामान्य तरीके से अचानक जनरल झांग को हटा दिया गया। उनकी जगह पश्चिमी थियेटर में जमीनी बलों के कमांडर जू किलिंग (58) को पूर्ण जनरल के रूप में पदोन्नत किया गया है। भारत के साथ सैन्य गतिरोध शुरू होने के बाद से डब्ल्यूटीसी प्रमुख में यह तीसरा बदलाव है।

डब्ल्यूटीसी नेतृत्व में बदलाव भारत और चीन के बीच 12वें दौर की कोर कमांडर स्तर की वार्ता से पहले हुआ है। जू किलिंग चीनी सेना में पूर्ण जनरल बनने वाले सबसे कम उम्र के लोगों में हैं। जू को राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने खुद नियुक्त किया है। अब वह डब्ल्यूटीसी प्रमुख के रूप में सीमा संकट को कम करने के लिए भारत और चीन के बीच बातचीत में शामिल होंगे। सूत्रों का कहना है कि पीएलए अब पूर्वी लद्दाख में गोगरा, डेप्सांग और हॉट स्प्रिंग क्षेत्रों से विस्थापन प्रक्रिया पर चर्चा करने को तैयार है लेकिन उसने भारतीय गश्त को रोकने से इनकार कर दिया है।

भारतीय अधिकारियों का कहना है कि चीनी पांच थियेटर कमांडों में पश्चिमी थियेटर कमांड (डब्ल्यूटीसी) सबसे बड़ी है जो पूर्वी लद्दाख से अरुणाचल प्रदेश तक पूरे 3,488 किलोमीटर एलएसी को संभालती है। भारत के पास अभी तक कोई एकीकृत थियेटर कमांड नहीं होने के कारण चीन के साथ उत्तरी सीमाओं के लिए सेना की चार और वायुसेना की तीन कमांड हैं। एक अन्य अधिकारी ने कहा कि चीन के इस बदलाव पर अभी कोई भी टिप्पणी करना जल्दबाजी होगी। इसे भारत के साथ सीमा संकट से भी जोड़ना ठीक नहीं है बल्कि अभी चीन की ओर से किसी भी प्रतिक्रिया का इंतजार करना होगा। इसके बावजूद भारत की सेना एलएसी पर पूरे अलर्ट मोड में है और चीन के किसी भी दुस्साहस का जवाब देने के लिए तैयार है।