Sun. Dec 5th, 2021

धनतेरस पर सात हजार करोड़ रुपये के सर्राफा कारोबार का अनुमान


नई दिल्ली, 02 नवंबर (हि.स.)। दीपोत्सव का त्योहार दीपावली की शुरुआत अहोई अष्टमी से हो गई है। इस त्योहार में धनतेरस के दिन खरीदारी के लिए लिहाज से बहुत शुभ माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन खरीदारी से धन की देवी माता लक्ष्मी की कृपा बरसती है। धनतेरस पर देशभर के सर्राफा कारोबारियों को लगभग 15 टन सोने-चांदी के आभूषणों की बिक्री से करीब सात हजार करोड़ रुपये के व्यापार का अनुमान है।

कारोबारियों के संगठन कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने मंगलवार को जारी एक बयान में कहा कि इस साल धनतेरस पर त्रिपुष्कर योग बन रहा है, जो कि खरीदारी के लिए शुभ माना जाता है। इस अवसर पर देशभर के सर्राफा कारोबारियों को लगभग 15 टन सोने के आभूषणों की बिक्री से करीबी सात हजार करोड़ रुपये के व्यापार का अनुमान है। कैट ने कहा कि राजधानी दिल्ली में ही सोने-चांदी के एक हजार करोड़ रुपये के व्यापार की संभावना है।

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि देशभर के सर्राफा कारोबारियों ने धनतेरस के अवसर पर ग्राहकों की भीड़ को देखते हुए व्यापक तैयारियां कर रखी है, ताकि लोगों को किसी तरह की कोई दिक्कत का सामना नहीं करना पड़े। कारोबारी संगठन का कहना है कि दो वर्ष से ग्राहकों के लिए तरस रहे व्यापारियों को देशभर के बाजारों में लोगों की उमड़ रही भीड़ से इस दिवाली अच्छे कारोबार की उममीद है।