Mon. Aug 2nd, 2021

पुलिस व सुरक्षा बल की करें मदद नशे के जाल को खत्म करने में : डीजी राकेश अस्थाना


नई दिल्ली, 26 जून (हि.स.)। अंतरराष्ट्रीय नशा निरोधक दिवस के मौके पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के डीजी राकेश अस्थाना ने कहा कि नशा सबसे ज्यादा युवा पीढ़ी को खत्म कर रहा है। इस नशे के जाल को समाप्त करने के लिये बीएसएफ समय-समय पर सोशल मीडिया, रैली व ऐसे कई अभियान चलाती रही है। इसके साथ ही बीएसएफ के डीजी ने लोगों से अपील की है कि वह अपने आस-पास के लोगों को नशे से होने वाले दुरुपयोग के बारे में बताकर जागरूक करे और नशे के जाल को खत्म करने में पुलिस व सुरक्षा बल की मदद करें। उन्होंने इस अवसर पर ‘नशे को ना कहें, जीवन को हां कहें’ का स्लोगन दोहराया।
दिल्ली स्थित बीएसएफ मुख्यालय से प्रवक्ता कृष्णा राव ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय नशा निरोधक दिवस के मौके पर सीमा सुरक्षा बल ने कई जगह जागरूकता अभियान चलाया है। प्रवक्ता के अनुसार, अंतरराष्ट्रीय नशा निरोधक दिवस के मौके पर त्रिपुरा स्थित बीएसएफ मुख्यालय ने ‘रोड वॉक’ करके विशेष अभियान चलाया।
इसी क्रम में जम्मू के सांबा सीमा पर तैनात बीएसएफ के सैनिकों ने अंतरराष्ट्रीय दिवस के अवसर पर नशीली दवाओं के दुरुपयोग और अवैध तस्करी के खिलाफ एक रैली का आयोजन किया। जबकि जालंधर बीएसएफ मुख्यालय ने आज 10 किलोमीटर की साइकिल रैली का आयोजन किया, जिसमें सैनिकों  और बच्चों ने उत्साह के साथ भाग लिया और नशीली दवाओं के दुरुपयोग के बारे में लोगों को बताया।